election 2018: भाजपा के पूर्व विधायक हुए बागी, कहा - अब भाजपा की खोलूंगा पोल , आरक्षण पर दिया विवादित बयान, दिल्ली तक मचा हडक़ंप

election 2018: भाजपा के पूर्व विधायक हुए बागी,  कहा - अब भाजपा की खोलूंगा पोल , आरक्षण पर दिया विवादित बयान, दिल्ली तक मचा हडक़ंप

deepak deewan | Publish: Sep, 11 2018 02:21:16 PM (IST) | Updated: Sep, 11 2018 02:28:04 PM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

अब भाजपा की पोल खोलूंगा

जबलपुर। मध्यप्रदेश में चुनाव सिर पर हैं और ऐसे में भाजपा के ही कुछ नेताओं ने बागी तेवर अपना लिए हैं। रीवा के मऊगंज से बीजेपी के पूर्व विधायक लक्ष्मण तिवारी भी उनमें से एक हैं जोकि खुलकर बोल रहे हैं। पूर्व विधायक तिवारी का कहना है कि भारतीय जनता पार्टी अब पहले जैसी पार्टी नहीं रही है। उन्होंने कहा कि पार्टी की विचारधारा में काफी बदलाव आ चुका है। वे आरक्षण पर भाजपा की रीति-नीति की जमकर आलोचना कर रहे हैं और आरक्षण हटाने के लिए देशव्यापी आंदोलन करने की भी बात कर रहे हैं।


पूर्व विधायक लक्ष्मण तिवारी सोमवार को शहर में आए। इस दौरान उन्होंने प्रेस कान्फे्रस ली और अपनी बातें कहीं। एसटीएसी एक्ट पर केंद्र सरकार की ओर से अध्यादेश लाए जाने से नाराज भाजपा के बागी पूर्व विधायक लक्ष्मण तिवारी ने पत्रकारों से चर्चा में भाजपा पर कड़े प्रहार किए। तिवारी ने कहा कि वे जातिगत आरक्षण हटाने की मांग को लेकर प्रदेशव्यापी दौरा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश की सभी विधानसभा सीटों में उम्मीदवार उतारेंगे। सपाक्स के साथ महागठबंधन करेंगे। इस दौरान सवर्ण समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामरुचि शुक्ला मौजूद थे। तिवारी ने साफ शब्दों में कहा कि भारतीय जनता पार्टी अपने मूल उद्देश्य से भटक कर सत्ता के लिए जाति की राजनीति कर रही है। गौरतलब है कि तिवारी भोपाल में बाकायदा प्रेस कांफे्रस में यह कह चुके हैं कि अब वे जल्द ही उज्जैन से बीजेपी की पोल खोलने के लिए एक यात्रा निकालने जा रहे हैं. उन्होंने यह भी कहा था कि आगामी 14 सितंबर को राजधानी में एक बड़ा कार्यक्रम आयोजित करने का विचार किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि जिस तरह से एससी/एसटी एक्ट का विरोध पूरे देश में हो रहा है. इसके बावजूद भी बीजेपी इस पर कुछ भी बोलने से बच रही है. पूर्व विधायक के बागी तेवर से पार्टी के वरिष्ठ नेता सकते हैं। भाजपा में दिल्ली तक हडक़ंप मच गया है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned