यहां एक्टिवेटेड सिम बेचकर इस तरह पहुंचा रहे थे देश को नुकसान

अवैध तरीके से फर्जी सिम की खरीद फरोख्त में लिप्त 04 आरोपी गिरफ्तार, कब्जे से 2 लैपटाप, 10 मोबाईल, तथा बी.एस.एन.एल कम्पनी की चालू व बंद सिमें जप्त

By: santosh singh

Updated: 10 Apr 2019, 06:25 PM IST

जबलपुर । अवैध तरीके से फर्जी सिम की खरीद फरोख्त में लिप्त 04 आरोपी गिरफ्तार। पुलिस ने उनके कब्जे से 2 लैपटाप, 10 मोबाईल, तथा बी.एस.एन.एल कम्पनी की चालू व बंद सिमें जप्त किया। पुलिस अधीक्षक निमिष अग्रवाल ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि इसका दुरुपयोग लोकसभा चुनाव में करने की तैयारी थी।

news fact-

-थाना संजीवनी नगर के अपराध क्रमांक 124/2019 धारा 420 भादवि,66(सी) आई.टी. एक्ट

गिरफ्तार आरोपी :-

(1) सौरभ सेन पिता किशनलाल सेन उम्र 25 वर्ष निवासी गौतम मढिया के पास संजीवनी नगर

(2) रविन्द्र पटैल पिता चरन लाल पटेल उम्र 33 वर्ष निवासी कृपाल चौक शुक्ला डेरी के सामने थाना गढा

(3) विकाश विश्वकर्मा पिता गोविंद प्रसाद विश्वकर्मा उम्र 30 वर्ष निवासी जगदम्बा कालोनी महाराजपुर थाना आधारताल

(4) एडविन जैकप पिता राबिनसन जैकप उम्र 30 वर्ष निवासी त्रिमूर्ति नगर कृष्णा कालोनी दमोहनाका थाना गोहलपुर

जप्ती -

2 लेपटॉप चॉर्जर सहित ऐसर एवं डेल कंपनी के, सिम कार्ड लापु बी.एस.एन.एल. की 570 चालू व 365 बन्द सिम, विभिन्न कम्पनियों के 10 मोबाईल, पेटीएम कार्ड, एयरटेल कंपनी का आईडी कार्ड ।

पुलिस अधीक्षक ने दिए थे जांच के निर्देश-

पुलिस अधीक्षक, जबलपुर निमिष अग्रवाल (भा.पु.से.) ने अगामी लोकसभा चुनाव 2019 को दृष्टिगत रखते हुये समस्त राजपत्रित अधिकारियो व थाना प्रभारियो को सायबर एवं आईटी एक्ट के बढते अपराधो पर नियंत्रण हेतु अवैध तरीके से फर्जी सिम की खरीद फरोक में लिप्त आरोपियो को चिन्हित करते हुये उनके विरूद्व प्रभावी कार्यवाही हेतु आदेषित किया गया है।

क्राइम ब्रांच के सहयोग से चल रही थी जांच-

अति. पुलिस अधीक्षक दक्षिण डॉ संजीव उइके , अति. पुलिस अधीक्षक (क्राईम) शिवेश सिंह बघेल द्वारा क्राईम ब्रान्च एवं थानो में पदस्थ अधिकारी कर्मचारियो को अबैध तरीके से फर्जी सिम की खरीद फरोक में लिप्त आरोपियो पतासाजी हेतु लगाया गया है। जिसके बाद नगर पुलिस अधीक्षक गढा अमित तोलानी (भा.पु.से.) के मार्ग निर्देशन में अवैध रूप से सिम को एक्टीवेट कर खरीद फरोख्त मे लिप्त 4 आरोपियो को गिरफ्तार करने मे महत्वपूर्ण सफलता हासिल हुई ।

गौतम बढ़िया के पास से दबोचे गए-

मंगलवार की देर रात क्राईम ब्रान्च की टीम को मुखबिर से सूचना मिली की गौतम जी की मढिया के पास एक व्यक्ति जिसका नाम सौरभ सेन है। फर्जी तरीके से एक्टीवेट की हुई सिमें बेच रहा है। सूचना पर क्राईम ब्रांच एवं थाना संजीवनी नगर पुलिस द्वारा योजनाबद्ध तरीके से मुखबिर के बताए स्थान पर दबिश दी गयी। गौतम मढिया के पास मेन रोड पर चार लडके खडे होकर विभिन्न कम्पनियो की सिम बैच रहे थे। जिन्हें घेराबंदी कर पकडा एवं नाम पता पूछा जिन्होंने अपने नाम (1) सौरभ सेन पिता किशनलाल सेन उम्र 25 वर्ष निवासी गौतम मढिया के पास संजीवनी नगर (2) रविन्द्र पटैल पिता चरन लाल पटेल उम्र 33 वर्ष निवासी कृपाल चौक शुक्ला डेरी के सामने थाना गढा (3) विकाश विश्वकर्मा पिता गोविंद प्रसाद विश्वकर्मा उम्र 30 वर्ष निवासी जगदम्बा कालोनी महाराजपुर थाना आधारताल (4) एडविन जैकप पिता राबिनसन जैकप उम्र 30 वर्ष निवासी त्रिमूर्ति नगर कृष्णा कालोनी दमोहनाका थाना गोहलपुर बताये।

570 चालू सिम में ज़ब्त-

आरोपियो के कब्जे से कुल 02 लेपटॉप ऐसर एवं डेल कंपनी के चॉर्जर सहित, सिम कार्ड लापु बी.एस.एन.एल. सिम, बी.एस.एन.एल. कंपनी की कुल 570 चालू सिम व 365 बन्द सिम, विभिन्न कम्पनियों के 10 मोबाईल, पेटीएम कार्ड, एयरटेल कंपनी का आईडी कार्ड जप्त करते हुये आरोपियों के विरूद्ध धारा 420 भादवि एवं 66 (सी) आई.टी. एक्ट के तहत कार्यवाही करते हुये प्रकरण विवेचना में लिया गया।

उल्लेखनीय भूमिका :-

फर्जी तरीके से सिम एक्टीवेट कर सिमों की खरीद फरोख्त में लिप्त 4 आरोपियों को गिरफ्तार करने में थाना प्रभारी संजीवनी नगर भुनेश्वरी चौहान, क्राईम ब्रान्च से स.उ.नि. राजेष शुक्ला, स.उ.नि. रामस्नेही शर्मा, आरक्षक ज्ञानेन्द्र पाठक, जितेन्द्र दुबे, ब्र्रहम प्रकाष, बीरबल, अनिल शर्मा, सुजेष विजयन सायबर सेल से उप निरीक्षक नीरज नेगी, आरक्षक राजेष शर्मा, नितिन जोषी, इन्द्रजीत ,चंद्रिका, मनोज एंव थाना संजीवनी नगर के उनि नीलेष तिवारी, सउनि राजेन्द्र जोषी, आरक्षक अभिषेक शिन्दे की सराहनीय भूमिका रही। पुलिस अधीक्षक जबलपुर निमिष अग्रवाल (भा.पु.से.) द्वारा टीम को नगद पुरूस्कार से पुरूस्कृत करने की घोषणा की गयी है।

 जप्त सिम कार्ड मोबाइल लैपटॉप आदि
IMAGE CREDIT: Patrika
Show More
santosh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned