रात को नहीं उठता कचरा

रात को नहीं उठता कचरा

Gaurav Dubey | Publish: Mar, 17 2019 05:39:37 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

डस्टबिन कचरे से अटे दिखे, कई जगह सडक़ पर मिला कचरा

 

इन्ट्रो
शहर में स्वच्छता के नाम पर करोड़ों रुपए खर्च किया जा रहा है बावजूद इसके सफाई व्यवस्था चौपट दिखाई दे रही है। स्वच्छता के नाम पर जिम्मेदार अधिकारी खानापूर्ति कर रहे हैं। हकीकत तो यह है कि स्वच्छता को लेकर नगर निगम गंभीर नहीं दिखाई दे रहा है। इसका अंदाजा शहर की सडक़ों पर जगह-जगह लगे कचरे के ढेर को देखकर लगाया जा सकता है। आलम यह है कि रात की सफाई व्यवस्था ने दम तोड़ दिया है। न तो कचरा दिन में उठता है और न ही रात के समय।

एक्सपोज रिपोर्टर,जबलपुर

शहर की सफाई व्यवस्था देखने के लिए पत्रिका एक्सपोज टीम रात १२.30 बजे निकली। देर रात तक शहर की अलग-अलग सडक़ों का जायजा लिया गया। हालात यह थे कि कहीं पर भी सफाईकर्मी नहीं दिखे। सडक़ पर गंदगी का अम्बार लगा हुआ था। आलम यह था कि क्षेत्र में प्रदूषित हवा उडऩे से वहां खड़ा होना तक मुश्किल हो रहा था।

नहीं आते सफाई कर्मी
सफाई का कार्य रात में होना निर्धारित किया गया है। लेकिन सफाई कर्मी मौके पर आते तक नहीं है। शहर के विभिन्न मार्गो का जायजा लेने पर यह बात सामने आई। जिसके चलते समय पर न तो झाडू लगती है और न ही कचरा उठता है।

हर वार्ड में 40 सफाई कर्मी

शहर में 79 वार्ड है। नगर निगम द्वारा प्रत्येक वार्ड में 40 कर्मियों की व्यवस्था की गई है। इस हिसाब से शहर में करीब 3100 सफाई कर्मी है। हजारों सफाई कर्मी होने के बाद भी शहर गंदगी से अटा हुआ है। आलम यह है कि न तो समय पर झाडू लगती है और न कचरे का परिवहन होता है।

यहां पहुंची एक्सपोज टीम
रानीताल,गोलबाजार,सिविक सेंटर,मालवीय चौक,श्रीनाथ की तलैया,यादव कॉलोनी,स्नेह नगर,विजय नगर,गढ़ाफाटक, ट्रांसपोर्ट नगर, निवाडग़ंज आदि जगहों का जायजा लेने के बाद अधिकारियों की लापरवाही की कलई खुलकर सामने आ गई।

लेकिन नहीं उठा कचरा

एक्सपोज टीम ने रात का जायजा लेने के बाद रविवार दोपहर दोबारा उन्हीं स्थानों पर पहुंची। यहां रात के समय जो हालात थे दिन में भी वैसे ही नजर आए। क्षेत्रीय लोगों ने बताया कि सफाई के प्रति जागरूक तो हैं, लेकिन साफ-सफाई में निरंतरता की कमी है। निगरानी नहीं होने के कारण रोजाना सफाई नहीं हो पा रही है जिससे कचरा भी सडक़ पर डला रहता है।

यह है स्थिति
श्रीनाथ की तलैया

श्रीनाथ की तलैया के समीप कचरे का अम्बार लगा मिला। यहां पन्नी के साथ कचरे में शामिल खाद्य सामग्री से प्रदूषण फैल रहा था। बदबू के कारण खड़ा होना मुश्किल हो रहा था। रविवार दोपहर दो बजे तक मौके से कचरा नहीं उठा था।


सिविक सेंटर

सिविक सेंटर चौपाटी से लेकर नाली और उद्यान तक जगह-जगह कचरे का ढेर मिला। उद्यान के बाहर कचरा डम्प था। वहां मवेशी मौजूद थे। जो गंदगी फैला रहे थे। रविवार दोपहर जाकर देखा तो कचरा वहीं फैला हुआ था।


मालवीय चौक

मालवीय चौक से ओमती रोड। मालवीय चौक से १५० मीटर की दूरी पर स्थित एक मार्केट के समीप कचरे की डस्टबीन लगी हुई थी। डस्टबीन के बाहर कचरा फैला हुआ था। दूसरे दिन भी वहीं हालात दिखाई दिए।


राइट टाउन

यातायात थाने से रानीताल मार्ग। इस मार्ग पर जगह-जगह कचरा फैला हुआ था। डस्टबीन के बाहर लगे कचरे का ढेर हवा में उडक़र सडक़ पर आ रहा था। यहां पंचर सुधारने वाले व्यक्ति ने बताया कि तीन माह से रात में सफाई कर्मी झाडू या कचरा समेटने नहीं आ रहे हैं।

सफाई व्यवस्था पर निगरानी सीएसआई रखते हैं। यदि इस दिशा में कोई लापरवाही बरत रहा है तो नकेल कसी जाएगी। समय पर झाडू लगने और कचरा उठने की व्यवस्था व्यवस्था दुरुस्त की जाएगी।

जीएस चंदेल,स्वास्थ्य प्रभारी,नगर निगम

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned