gold coin treasure यहां मिले सिक्कों से बने गहने, जिसने देखा दंग रह गया

Lalit kostha

Publish: Sep, 16 2017 03:49:51 (IST)

Jabalpur, Madhya Pradesh, India
gold coin treasure यहां मिले सिक्कों से बने गहने, जिसने देखा दंग रह गया

सोने-चांदी को मात दे रहे सिक्कों से बने जेवर ,अग्रसेन माधवी मंडल ने आयोजित की अनूठी प्रतियोगिता

जबलपुर। अभी तक सिक्के या कॉइन्स खरीददारी के काम आते थे। विनिमय प्रथा में सिक्कों का चलन जब से शुरू हुआ है तब से इनका प्रयोग केवल करंसी के तौर पर ही किया गया, लेकिन अग्रसेन माधवी मंडल के द्वारा इन सिक्कों से ज्वैलरी बनाने का अनूठा आयोजन संपन्न हुआ। जहां ४५ से अधिक प्रतिभागियों ने एक, दो, पांच और दस के सिक्कों से आकर्षक और कलात्मक ज्वैलरी बनायी।

 इन देवी गीतों को सुनकर अच्छे अच्छे भक्ति में मगन हो जाते हैं, आप भी सुनें 

स्पर्धा में प्रतिभागियों की रचनात्मकता देखने लायक थी। १० के सिक्के से मांग टीका बनाया, तो वहीं ५ के सिक्कों को जोड़कर कंगन की शक्ल दी गई। नेकलेस और पायल भी सिक्कों के अलग ही रूप को दर्शा रही थी। इस अवसर पर माधवी मंडल की सदस्य कुमुद अनीता, रश्मि, मनीषा, ममता, आशा, पूजा, ज्योति, सुनीता, प्रभात आदि का योगदान रहा। आयोजन अग्रसेन जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित किए जा रहे हैं। सिक्कों से ज्वैलरी बनाओ स्पर्धा अग्रवाल धर्मशाला कोतवाली में संपन्न हुई। जिसमें समाज के गणमान्यजन भी अतिथि के रूप में उपस्थित रहे।

Prostitution 12 साल की बेटी को 80हजार में मां ने बेचा, 24 घंटे बनती थी वासना का शिकार 

दीपा और रैना रहीं विनर
ज्वैलरी मेकिंग कॉम्पीटिशन में निर्णायक की भूमिका सुनीति माहेश्वरी, मंजु अग्रवाल एवं लता रावत ने निभाई। निर्णायकों ने ज्वैलरी मेकिंग में सफाई, प्रजेंटेशन, आकर्षकता और पहनने योग्य ज्वैलरी को बेस्ट चुना है। इन बिंदुओं के आधार पर प्रथम स्थान दीपा एवं रैना अग्रवाल को मिला। दूसरे स्थान पर अनामिका एवं शिल्पा अग्रवाल रहीं। तीसरा स्थान रेखा एवं कविता अग्रवाल ने हासिल किया, जबकि अन्य पुरस्कार नेहा, रिया, खुशबू एवं कंचन को मिले।

पैसों से खरीदी थी डॉक्टर सीट, अब कंपाउंडर भी नहीं बन पाएंगे, जानें पूरा मामला 

महिला लड़के के साथ जंगल में मना रही थी रंगरलियां, प्रेमिका ने ऐसे लिया बदला- देखें जबलपुर न्यूज बुलेटिन 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned