मर्चेंट नेवी का अफसर बनकर शादी की, मुंह मांगा वसूला दहेज

गोरखपुर पुलिस ने न्यू राम नगर निवासी युवक और उसकी मां पर प्रकरण दर्ज

By: awkash garg

Published: 14 Apr 2016, 11:40 PM IST

जबलपुर। मर्चेंट नेवी का अफसर बताकर शहर के एक युवक ना सिर्फ शादी की, बल्कि जमकर दहेज भी वसूला। जब शादी के बाद असलियत सामने आई तो दहेज लोभियों की हरकतों से तंग होकर नवविवाहिता को ससुराल छोडऩे के लिए मजबूर होना पड़ा। यह शिकायत होशंगाबाद निवासी युवती ने अपने पति और ससुराल पक्ष के लोगों पर लगाए हैं। शहर के गोरखपुर थाने में पहुंची पीडि़ता ने धोखाधड़ी कर विवाह करने और ऊंची दहेज की रकम वसूलने के मामले में अपने पति दिग्विजय और उसकी मां पर आरोप लगाए हैं। गोरखपुर पुलिस ने पति और सास पर बुधवार देर रात धोखाधड़ी करने व दहेज के लिए प्रताडि़त करने का मामला दर्ज किया।

होशंगाबाद में हुआ विवाह
गोरखपुर पुलिस ने बताया कि न्यू राम नगर निवासी दिग्विजय पुरी का विवाह 2012 में होशंगाबाद शिवाजी नगर निवासी मुक्ति पुरी (34) से तय हुआ। उस वक्त दिग्विजय की मां नीलम ने मुक्ति के परिजनों को बताया कि दिग्विजय मर्चेंट नेवी में है। बात तय हुई। होशंगाबाद के गायत्री मंदिर में 30 अपै्रल 2012 को दिग्विजय और मुक्ति का विवाह हुआ। इस दौरान मायके वालों ने उसे उपहार मेंं लगभग पांच लाख का सामान दिया। विवाह के कुछ दिनों बाद से ही दिग्विजय और उसकी मां नीलम ने मुक्ति पर मायके से और दहेज लाने का दबाव बनाने लगे। मुक्ति को विवाह के समय मिले पांच लाख रुपए के जेवरात भी मां-बेटा ने रख लिए।

पता चला, तो जान से मारने की धमकी
इस दौरान मुक्ति को पता चला कि दिग्विजय मर्चेंट नेवी में काम ही नहीं करता है। मुक्ति ने पूछा, तो दिग्विजय और उसकी मां उसे और ज्यादा प्रताडि़त करने लगे। जिस कारण मुक्ति को ससुराल छोडऩा पड़ा। वह मायके में रह रही है। उसने होशंगाबाद थाने में पति और सास के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई। जहां से केस डायरी गोरखपुर थाने पहुंची। यहां मामले में असल कायमी की गई।
Show More
awkash garg
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned