सिहोरा को मिली सौगात, करोड़ों का यह प्लांट होगा स्थापित

सिहोरा में 335 करोड़ रुपए की लागत से बनेगा स्टील प्लांट ,  परियोजना को सरकार की मिली मंजूरी

By: neeraj mishra

Published: 16 Jan 2017, 05:33 PM IST

जबलपुर। सोमवार को सिहोरा को बड़ी सौगात मिली। प्रदेश सरकार ने यहां स्टील प्लांट स्थापित करने की मंजूरी दे दी है। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई निवेश संवर्धन उप समिति की बैठक में यह मंजूरी दी गई। बैठक में सिहोरा स्टील प्लांट सहित निवेश संबंधी छह परियोजनाओं की स्वीकृति दी गई। इन परियोजनाओं से प्रदेश में करीब 3,285 करोड़ रुपए का पूँजी निवेश होगा।


बनेगा इंटीग्रेटेड स्टील प्लांट 

राज्य सरकार निवेश को प्रोत्साहन देने की नीति पर अमल कर रही है। इसके अंतर्गत इन आधा दर्जन परियोजनाओं को मंजूर किया गया। सिहोरा के लिए स्वीकृत परियोजना   जल्द शुरु किए जाने की भी बात कही गई है। यहां मेसर्स पेसिफिक आयरन मेन्यूफेक्चरिंग लिमिटेड द्वारा स्टील प्लांट स्थापित किया जा रहा है। 335 करोड़ रुपए के निवेश से स्थापित होनेवाले इस इंट्रीग्रेटेड स्टील प्लांट के शुरु होने के बाद सिहोरा के साथ ही जिलेभर की औद्योगिक तस्वीर बदल जाने की उम्मीद है। प्लांट और सहायक उद्योगों, व्यवसायों में जिले के बेरोजगारों को बड़ी संख्या में रोजगार मिलेगा। 

उद्योगों के लिए बेहतर वातावरण

रायसेन जिले के मण्डीदीप में 57 करोड़ रुपए के निवेश से आईटी सेक्टर में विशेष प्र-संस्करण क्षेत्र विकसित किए जाने, मुरैना जिले के सीतापुर में 109 करोड़ रुपए के निवेश की कोटेड फेब्रिक टेक्सटाईल परियोजना, मण्डीदीप, सतलापुर और बुधनी में स्थित इकाइयों के आधुनिकीकरण और विस्तार के लिए 1450 करोड़ रूपए के निवेश संबंधी परियोजना भी स्वीकृत की गई। रायसेन जिले के तामोट और पीथमपुर में 398 करोड़ रुपए के निवेश से फर्नीचर फिटिंग्स निर्माण इकाई को भी मंजूरी मिली। मुख्यमंत्री चौहान ने बैठक में कहा कि प्रदेश में निवेश के लिए बेहतर वातावरण उपलब्ध है। 
Show More
neeraj mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned