सरकार ने मोबाइल बंद रखने के लिए नहीं दिए

जबलपुर नगर निगम के अधिकारियों-कर्मचारियों को मोबाइल बंद रखने पर लगाई फटकार, कहा जनसमस्या निवारण के लिए दिए गए हैं मोबाइल

By: Manish garg

Published: 27 Jul 2020, 08:06 PM IST

जबलपुर

सार्वजनिक सेवा के कार्य में आए हैं तो मुस्तैदी के ड्यूटी करें। नगर निगम के द्वारा उपलब्ध कराया गया मोबाइल बंद पाया जाता है तो संबंधित अधिकारी-कर्मचारी के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। नगर निगम आयुक्त अनूप कुमार सिंह ने ये सर्कु लर जारी कर सभी को चेताया है।
सर्कु लर में स्पष्ट किया गया है कि निगम के अधिकारियों-कर्मचारियों को मोबाइल आवंटित किए गए थे। जिनमें से ज्यादातर मोबाइल अक्सर बंद रहते हैं। इसके कारण आवश्यकता होने पर उनसे संपर्क नहीं हो पाता है। अब अगर किसी भी अधिकारी-कर्मचारी का मोबाइल बंद पाया जाता है तो उसके विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। निगम प्रशासन इन मोबाइल के बिल की बड़ी राशि का भुगतान करता है। ये राशि लाखों रुपये में है।

विभाग प्रमुख-मैदानी अमले को दिए थे मोबाइल-
निगम प्रशासन ने सभी प्रमुख अधिकारियो, विभाग प्रमुख व व मैदानी अमले को मोबाइल दिए थे। 700 मोबाइल निगम ने कर्मचारियों को उपलब्ध कराए थे। इन मोबाइल के बिल का भुगतान निगम प्रशासन करता है। निगमकर्मियों को मोबाइल उपलब्ध कराए एक दशक से ज्यादा समय हो चुका है। निगम प्रशासन इन मोबाइल का मासिक बिल औसतन लगभग 60 हजार रुपये का भुगतान करता है। यानी सालाना साढ़े सात लाख रुपये से से ज्यादा मोबाइल बिल का भुगतान किया जाता है।

Manish garg Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned