जन्म से सुन नहीं सकता था बच्चा, सरकारी अस्पताल के डॉक्टरों ने कर दिया कमाल

बच्चे की सफल सर्जरी, स्पीच थैरेपी से सामान्य होगी जिंदगी

 

By: Lalit kostha

Published: 25 Sep 2021, 08:18 AM IST

जबलपुर। अंतरराष्ट्रीय बधिर सप्ताह में नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज से एक अच्छी खबर आयीं। जन्म से सुन नहीं पाने वाले एक बच्चे की जटिल सर्जरी सफलतापूर्वक की गई। सर्जरी में बच्चे की श्रवण शक्ति बढ़ाने के लिए कान के पीछे एक छोटा सा यंत्र लगाया गया है। इसके जरिए अब बच्चा किसी की भी आवाज सुन सकेगा। बोलना सिखाने के लिए अब उसे स्पीच थैरेपी दी जा रही है। लगभग दो साल के स्पीच थैरेपी के कोर्स को पूरा करने के साथ ही बच्चा सामान्य जनों की बात सुन और बातचीत कर सकेगा।

मेडिकल कॉलेज में नाक, कान एवं गला रोग विभाग की प्रमुख डॉ. कविता सचदेवा के अनुसार उमरिया निवासी एक बच्चे की जन्माजात श्रवण शक्ति नहीं थी। बच्चे का मुख्यमंत्री बालश्रवण योजना के तहत पंजीयन करके उपचार किया गया। योजना के तहत करीब पांच लाख रुपए के यंत्र बच्चे में सर्जरी करके इन्सर्ट किया गया है।
जागरुकता रैली का आयोजन- बधिर सप्ताह के अंतर्गत एक जागरुकता रैली इएनटी विभाग, बीएएएलपी विभाग और एओआइ एमपी लोकल चैप्टर की ओर से निकाली गई। रैली को डीन डॉ. पीकेकसार और अस्पताल अधीक्षक डॉ. राजेश तिवारी ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। मेडिकल कॉलेज परिसर में रैली ने कान की रक्षा और सुनने की समस्या के समाधान को लेकर लोगों को संदेश दिया। कॉक्लियर इम्प्लांट और अन्य जानकारियां नुक्कड़ नाटक के जरिए प्रदर्शित की।

Show More
Lalit kostha Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned