Government Job : भारतीय सेना में होने वाली है बंपर भर्तियां, विशेषज्ञों ने दिए सफलता के टिप्स

गवर्नमेंट महाकोशल कॉलेज में स्वामी विवेकानंद कॅरियर गाइडेंस प्रकोष्ठ के तत्वावधान में आयोजित हुई कार्यशाला

By: abhishek dixit

Published: 26 Nov 2019, 09:09 AM IST

जबलपुर. वर्तमान में देश के कई युवा ऐसे हैं जो सेना के जवानों से प्रेरित होकर भारतीय सेना में जाने का सपना देखते हैं। सेना में जाने का सपना देखना बहुत अच्छी बात है, लेकिन इस सपने को पूरा करने के लिए जी तोड़ मेहनत की जरूरत भी होगी, तभी भारत मां की सेवा के साथ कॅरियर को भी नई दिशा मिल सकेगी। यह बातें भारतीय नौ सेना के अधिकारी लेफ्टिनेंट ऋषभ ने युवाओं को सम्बोधित करते हुए कही। गवर्नमेंट महाकोशल कॉलेज में स्वामी विवेकानंद कॅरियर मार्गदर्शन योजना के अंतर्गत 'भारतीय सशस्त्र सेना में कॅरियरÓ विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसमें ले. ऋषभ ने युवाओं को भारतीय सेना जॉइन करेन से संबंधित कई महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की।

13 गवर्नमेंट कॉलेज हुए शामिल
कार्यक्रम में सेना में कॅरियर के बारे में जानने के लिए जिले के 13 गवर्नमेंट कॉलेजों के स्टूडेंट्स शामिल हुए। इस दौरान सेना अधिकारी ने बताया कि अब पुरुषों के साथ किस तरह से महिलाएं भी भारतीय सेना में शामिल हो सकती हैं। उन्होंने कहा कि जुनून की गर्मी में तप कर ही आप अपने कॅरियर को सुनहरा बना सकते है। इस बीच कई बार असफल भी होंगे, लेकिन विफलता ही सफलता का प्रथम चरण है। उन्होंने बताया कि आने वाले कुछ ही माह में भारतीय सेना में 45,000 भर्तियां होनी हैं।

सेना में कॅरियर सम्मान का पर्याय है
कार्यक्रम में उपस्थित उच्च शिक्षा विभाग की अतिरिक्त संचालक डॉ. लीला भलावी ने कहा कि सेना में कॅरियर आज सम्मान का पर्याय है। कॉलेज प्रिंसिपल डॉ. आर. सैम्युअल ने कहा कि युवाओं को सेना में जाने के लिए निश्चय लेने के साथ कड़ी मेहनत भी करनी होगी। कार्यकम संयोजक और प्रकोष्ठ के संभागीय समन्वयक डॉ. अरुण शुक्ल ने कहा कि मप्र में पहली बार जबलपुर में इस तरह की कार्यशाला का आयोजन मप्र उच्च शिक्षा विभाग के निर्देशन में किया गया है। इस मौके पर संयोजन समिति से डॉ. राजीव मिश्रा, नीलिमा, शैलेन्द्र भवदीया, मनीष कुमार रघुवंशी उपस्थित थीं। इसके साथ ही डॉ. वीणा श्रीवास्तव, डॉ. मोना गुप्ता, डॉ. आभा तिवारी, डॉ. प्रतिमा दीक्षित, डॉ. बिंदु शर्मा, डॉ. सुलेखा मिश्रा, डॉ. प्रभात कुमार, डॉ. सुदेश मेहरोलिया, डॉ. जया वाजपेयी, डॉ. सुनील पाण्डेय उपस्थित थे।

abhishek dixit
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned