जब इस दुल्हन ने जी-भर के कोसा मोदी, जेटली को, जानिए क्यों चढ़ गया इसका पारा

कपड़ा मार्केट बंद रहने से शादी के परिधानों के लिए हो रहे परेशान, जीएसटी के विरोध में सभी कपड़ा दुकानें हैं बंद 

जबलपुर। 1 जुलाई से जीएसटी (गुड्स एण्ड सर्विसेस टैक्स) को लागू करने के विरोध में जबलपुर थोक वस्त्र विक्रेता संघ ने गुरुवार को बंद का आव्हान किया है। शहर की सभी थोक और फुटकर कपड़ा व रेडिमेड सुबह से ही बंद पड़ा हैं। कपड़ा व्यवसाय बंद रखने के इस देशव्यापी आंदोलन को जबलपुर के व्यापारी भी समर्थन दे रहे हैं।




बिफराए दुल्हा-दुल्हन 
कपड़ा मार्केट बंद रहने से आमजन परेशान हो रहे हैं। इस समय शादियों का सीजन शबाव पर है, कपड़ों की खासी खरीदारी हो रही है। ऐसे वक्त पर दुकानें बंद रहने से लोग नाराजगी जता रहे हैं। साडिय़ों के लिए मशहूर गोरखपुर मार्केट भी बंद पड़ा है। यहां से सैंकड़ों ग्राहक वापस लौट चुके हैं। पनागर से आई बबीता की दो दिन बाद शादी है। वे दुल्हन की लहंगा-चुन्नी और साडिय़ां लेने विशेष तौर पर यहां आई थीं। दुकानें बंद देखकर बबीता सीधे पीएम मोदी और फायनेंस मिनिस्टर अरुण जेटली को ही कोसने लगीं। सिविक सेंटर पर भी ऐसा ही नजारा दिखा जब शेरवानी लेने आया एक दूल्हा दुकानें बंद देखकर केंद्र सरकार पर खूब बरसा।




पहली बार लगाया टैक्स 
कपड़ा व्यापारियो का कहना है कि देश की आजादी के बाद यह पहला अवसर है कि कपड़ा व्यवसाय पर टैक्स लगाया गया है। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जीएसटी के विरोध में इस आंदोलन को लेकर बुधवार को जबलपुर थोक वस्त्र विक्रेता संघ की े साधारण सभा की बैठक हुई थी। यहां जीएसटी के प्रावधानों के बारे में विस्तार से बताते हुए जानकारी दी गई कि हर महिने की 3 और साल में 36 रिटर्न भरने को अब तक व्यापारी समझ नहीं पाया है। इसके साथ-साथ स्टॉक की गणना करना कठिन है। 
GST pm modi finance minister
Show More
deepak deewan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned