Health Tips : खुद को ठंड से बचाने के लिए खाएं ड्राई-फ्रूट्स और गुड़ के बने आइटम, जानें और भी फायदे

खुद को ठंड से बचाने के लिए खाएं ड्राई-फ्रूट्स और गुड़ के बने आइटम, जानें और भी फायदे

By: abhishek dixit

Published: 03 Jan 2020, 12:29 PM IST

जबलपुर. शहर में पिछले एक हफ्ते से ठंड का कहर जारी है। इस बीच जहां सर्द हवाएं लोगों को बीमार कर रही है, वहीं धूप और बारिश के बीच भी लोगों की सेहत नासाज हो रही है। आमतौर पर पुराने समय में ठंड आते ही दादी और नानी द्वारा ड्राईफ्रूट्स के व्यंजन और लड्डू बनना शुरू हो जाया करते थे। इसका बड़ा कारण था कि ड्राईफ्रूट्स और गुड़ बॉडी को अंदर से गरमाहट देने का काम करते थे। पुराने समय की ऐसी ही परम्परा को अब होम मेकर्स अपना रही हैं। दो से तीन दिनों में हुई ठंड में एकाएक बढ़त ने घरों में किचन मैन्यू को पूरी तरह से बदलने का काम किया है।

ट्रेडिशनल में इनोवेशन
सिटी मॉम्स का कहना है कि आमतौर पर बच्चों को गुड़ के लड्ड्ू और ड्राईफ्रूट्स के लड्डू पसंद नहीं आते, ऐसे में इसमें वे तरह-तरह के इनोवेशन खोज रही हैं। इसके लिए वे इस पुरानी परम्परा में इनावेशन करते हुए गुड़ का केक, खजूर का हलवा, ड्राईफ्रूट्स चिक्की, ड्राईफ्रूट्स बिस्किट बना रही हैं।

गुड़ से बने आइटम्स
सिटी विमन का कहना है कि वे इन दिनों सबसे ज्यादा गुड़ का प्रयोग होने वाली चीजों को बनाना पसंद कर रही हैं। इसके साथ ड्राईफ्रूट्स और खजूर से बनी हुई चीजों को बना रही हैं। उनका कहना है कि सीजन में बच्चों के साथ फैमिली के हर मेंबर को बीमारी का खतरा बढ़ जाता है, ऐसे में उनकी सुरक्षा के लिए उन्हें अंदर से स्ट्रॉन्ग बनाना भी खुद की जिम्मेदारी में शामिल है। गुड़ में आयरन और फोसिक एसिड होन के कारण यह बॉडी को अंदर से स्ट्रॉंग बना रहा है।

वेजिटेबल्स का भरपूर यूज
सिटी मॉम्स इस सीजन में ग्रीन वैजीस का सबसे ज्यादा यूज हर खाने में कर रही हैं। उनका कहना है सीजन में सबसे ज्यादा ग्रीन वेजिटेबल्स आती हैं ऐसे में मैथी, पालक, सरसों, बथुआ और दूसरी भाजियों को बनाया जा रहा है। मनीषा जैन बताती हैं कि वे फिलहाल कुकिंग में कई इनोवेशन कर रही हैं। बच्चों को स्वाद के साथ सेहत भी मिले इसके लिए वे मिक्स वेज इडली, डोसा और दूसरे आइटम्स बनाना पसंद करती हैं।

इन डिशेज में इनोवेशन
- पिन्नी
- ड्राईफ्रूट्स केक
- ड्राईफ्रूट्स लड्डू
- खजूर हलवा
- चॉकलेट ड्राईफ्रूट्स लड्डू
- बादाम हलवा
- खसखस हलवा
- आटे और दाल के लड्डू
- गुड़ पट्टी
- मिक्स वेज सूप
- शोरबा

सूप को सलेक्शन बढ़ा
निशा अग्रवाल बताती हैं कि ठंड को देखते हुए ब्रेकफास्ट और मिड स्नैक्स टाइम में फैमिली मेंबर्स को वैजिटेबल्स सूप सर्व करती हैं। मक्के की रोटी और सरसों का साग भी बॉडी में एंटीबायोटिक्स का काम करना है।

स्वीट्स के बदले गुड़
पूनम अग्रवाल बताती हैं कि ठंड के बढ़ते ही वे कुकिंग में गुड़ का यूज ज्यादा कर रही हैं। खाने के बाद स्वीट्स के बदलते भी गुड़ सर्व करती हैं, ताकि सीजन में सर्दी-जुकाम से सभी का बचाव हो सके।

हाईलाइट्स
1. गुड में आयरन और फोसिक एसिड
2. ड्राईफ्रूट्स में जिंक और मैग्नीशियम
3. आटा और दाल लड्डू में प्रोटीन
4. वेजिटेबल्स में आयरन

Show More
abhishek dixit
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned