वाह-वाह गोविंद सिंह आपै गुरु चेला...सिखों के दसवें गुरु को किया याद

आस्था और सेवाभाव से मनाया गया प्रकाशोत्सव

By: shivmangal singh

Updated: 06 Jan 2020, 01:06 AM IST

जबलपुर. 'गुरु गोविंद सिंह ने देशवासियों के खोए हुए स्वाभिमान को जगाकर नवजागृति, अदम्य साहस और राष्ट्र भक्ति का जज्बा भरा। उन्होंने दुश्मन और आतताइयों को खुली चुनौती देकर मैदाने जंग में ऐतिहासिक जीत हासिल कर विजय पताका फहराई।Ó गुरु गोविंद सिंह प्रकाशोत्सव के मौके पर बंदरिया तिराहा स्थित द्वारका परिसर में रविवार को आयोजित गुरुवाणी व शबद कीर्तन में कोटा राजस्थान से आए गुरुवाणी मीमांशक ज्ञानी मनमोहन सिंह ने ये उद्गार व्यक्त किए। शबद कीर्तन की मधुर वाणी से साध संगत भाव-विभोर हो गए।
गुरुवाणी मीमांशक ने कहा कि सिखों ने मानवता, विश्व शांति व राष्ट्र रक्षा में अनेक कुर्बानियां दीं। रागी जत्था चमनजीत सिंह जाल, दिल्ली ने समसामयिक गुरुवाणी शबद एवं 'वह प्रगटयों मरद अगमणा वरयाम अकेला, वाह वाह गोविंद सिंह आपै गुरु चेला...Ó से कीर्तन रसवर्षा की। रागी जत्थ मनमोहन सिंह दिल्ली एवं साथियों ने देह शिवा वर मोहे इहै शुभकर मन ते कबहूं ना डरो, ना डरो अरू सयो जब जाए लड़ा निश्चय कर अपनी जीत करो... की मधुर प्रस्तुति दी। गुरुग्रंथ साहिब के समक्ष माथा टेकने के लिए पुरुष और महिला श्रद्धालुओं ने लम्बी कतारों में लगकर प्रतीक्षा की। रागी जत्था महिंदर सिंह मल्होत्रा एवं अखंड कीर्तनी जत्था गुरु ग्रंथ साहिब ने बधाई गीत गाया। जोड़े की सेवा और गुरु के लंगर में सेवा की मिसाल की दिखी। इस मौके पर श्रद्धा, भक्ति और उमंग का संगम नजर आया। मुख्य गं्रथी हरविंदर सिंह भोगल ने सर्वत्र के भले की विशेष अरदास की। कार्यक्रम का संचालन हरजीत सिंह कंग एवं प्रभजोत सिंह ने किया। गुरुद्वारों की ओर से भोर बेला में संकीर्तनी प्रभात फेरिया निकाली गईं।

वाह-वाह गोविंद सिंह आपै गुरु चेला...सिखों के दसवें गुरु को किया याद

कुर्बानियों का जिक्र
वरिष्ठ अधिवक्ता आदर्श मुनि त्रिवेदी ने कहा कि गुरु गोविंद के परिवार ने हिन्दुओं की रक्षा के लिए बेशुमार कुर्बानियां दी है। ब्राह्मण महासभा की ओर से प्रकाशोत्सव के उपलक्ष्य में आयोजन किया जाएगा। आयोजन में सरदार नक्षत्र सिंह, प्रभजोत सिंह, कुलवंत सिंह, लखवीर सिंह, हरजीत सिंह सूदन, मेजर सिंह, मदन दुबे, कौमी सिंह, पलविंदर सिंह, हरइंदर सिंह रेखी उपस्थित थे। पूर्व मंत्री हरेंद्र जीत सिंह बब्बू, पार्षद काके आनंद, एसपी अमित सिंह, एएसपी संजीव ऊइके, अर्जुन पुरसवानी, सुरेश परवानी, शंकरलाल खत्री, छोटेलाल जैन सहित विभिन्न क्षेत्रों की विभूतियों को सिरोपा भेंटकर सम्मानित किया गया।

वाह-वाह गोविंद सिंह आपै गुरु चेला...सिखों के दसवें गुरु को किया याद

रांझी गुरुद्वारा
रांझी गुरुद्वारा में गुरु ग्रंथ साहिब के आगे मत्था टेकने वालों की कतार रही। चंडीगढ़ से आए रागी सिंघो ने गुरु की इलाही वाणी का कीर्तन प्रस्तुत किया। सुबह दीवान लगा। दोपहर में गुरु का अटूट लंगर बांटा गया। गुरु घर के सेवक प्रधान सरदार गुरवचन सिंह रील, आजयब सिंह गुमर, जरनैल सिंह, गुरदीप सिंह नाग उपस्थित थे। प्रकाश पर्व में शामिल होने के लिए विशेष रुप से चीन से कारोबारी ही माउनजन शहर पहुंचे। उन्होंने गुरुद्वारा पहुंचकर मत्था टेका। संस्कृति से प्रभावित माउनजन ने पंजाबी साहित्य का अंग्रेजी संस्करण उपलब्ध कराने का आग्रह किया।

shivmangal singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned