दो दुष्कर्मियों को फांसी, सजा सुनकर दहल उठे दरिंदे, उठाया यह कदम

दो दुष्कर्मियों को फांसी, सजा सुनकर दहल उठे दरिंदे, उठाया यह कदम

deepak deewan | Publish: Sep, 06 2018 02:26:16 PM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

सजा सुनकर दहल उठे दरिंदे

जबलपुर. दो मासूमों से दुष्कर्म किया गया। हाल ही में नाबालिग से दुष्कर्म की ये दो अलग- अलग घटनाएं हुई। इस बड़े अपराध के अपराधियों को फांसी की सजा सुनाई गई। जब अपनी जान जाने का डर सताया तो ये दरिंदे भी दहल उठे। जिला अदालत द्वारा सुनाई गई फांसी की सजा पर मप्र हाईकोर्ट में सुनवाई हुई। चीफ जस्टिस हेमंत गुप्ता और जस्टिस विजय कुमार शुक्ला की डिवीजन बेंच ने एक मामले की सुनवाई 14 सितंबर व दूसरे की 17 सितंबर को नियत की है। दोनों वारदात सागर के रहली थाना क्षेत्र की हैं।


नौ साल की बच्ची से मंदिर के पास रेप
रहली थाना क्षेत्र निवासी आरोपित भागीरथ नौ वर्षीय बालिका को 21 मई 2018 को बहला-फुसला कर अपने साथ ले गया। राजाबाबा मंदिर के पास उससे दुष्कर्म किया। पुलिस ने 72 घंटे में जांच पूरी कर 25 मई को अदालत में आरोपी के खिलाफ धारा 376 ए, धारा 376 बी, 366 तथा पोस्को एक्ट के तहत चालान पेश कर दिया। अदालत ने आरोपी को 7 जुलाई 2018 को फांसी की सजा सुना दी । मामले की सुनवाई के दौरान सरकार की ओर से निचली अदालत के सभी रिकार्ड व अन्य आवश्यक दस्तावेज हाईकोर्ट में पेश किए गए। इन्हें रिकार्ड पर लेकर मामले की सुनवाई 17 सितंबर तय की गई।


कमरे में बंद कर किया दुष्कर्म
रहली थाना क्षेत्र में ही 18 जुलाई 2018 की दोपहर खेल रही एक 12 वर्ष से कम उम्र की बालिका का अपहरण 40 वर्ष के आरोपित नरेश परिहार ने कर लिया था। उसे एक कमरे में बंद कर नरेश ने मासूस से दुराचार किया। शाम 5 बजे के बाद मासूम ने अपनी मां को वारदात की जानकारी दी। रहली थाने में नरेश के विरुद्ध अपराध दर्ज किया गया। सागर जिला अदालत ने 14 अगस्त को आरोपी नरेश को भादंवि की धारा 376 (क,ख), पॉक्सो एक्ट सहित धाराओं में मृत्युदंड से दंडित किया। इस मामले में आरोपी के वकील ने अपना पक्ष पेश करने के लिए समय मांग लिया। मामले की तारीख 14 सितंबर तय की गई।



Ad Block is Banned