कॉलेज लड़कियों ने तैयार की खूबसूरती बढ़ानेवाली डिश, एक साथ मिलेगा स्वाद सेहत और सौंदर्य

रेनी सीजन में हेल्दी रहा जा सकता है

By: deepankar roy

Published: 20 Jul 2018, 09:16 PM IST

जबलपुर । ग्रीन वेजिटेबल्स कई तरह के विटामिन, मिनरल्स से भरपूर होते हैं, लेकिन यही वेजिटेबल्स इस सीजन में सबसे ज्यादा नुकसानदेह हो सकते हैं। खास तौर पर जमीन में जड़ों से उगने वाली सब्जियां अधिक नुकसानदेह होती हैं, इसलिए पालक, लाल भाजी, बथुआ इस मौसम में ना खाएं। कोशिश रहे कि गर्मी में प्रिजर्व किए गए आइटम जैसे मूंग की बरी, सुखाई गई भाजियां, मटर का उपयोग सब्जियों के लिए किया जाए। आमतौर पर गृहिणियां गर्मी के समय प्रिजर्व करने के लिए चीजें सुखा लेती हैं, ताकि बरसात के मौसम में यह चीजें काम आएं। पुरानी पुराने समय का यह कल्चर आज भी कारगर है। यदि इसे अपनाएं तो रेनी सीजन में भी हेल्दी रहा जा सकता है।


जड़ वाली सब्जियां इसलिए ना खाएं
होम साइंस कॉलेज की फूड एंड न्यूट्रिशन डिपार्टमेंट की डॉ. राज लक्ष्मी त्रिपाठी ने बताया कि जड़ वाली सब्जियों का यह ब्रीडिंग टाइम होता है। इस वक्त पर सब्जियों का पूरा न्यूट्रीशन, प्रोटीन का प्रयोग वे खुद की ब्रीडिंग के लिए करती हैं। ऐसे में यह सब्जियां यदि हम खाते हैं तो हमारे शरीर के लिए नुकसानदेह है। इसका परिणाम उल्टी, दस्त, पीलिया जैसी बीमारियों के साथ सामने आता है। अन्य जानकारों की मानें तो इस मौसम में हरी सब्जियों में छोटे-छोटे कीड़े भी लग जाते हैं, इसलिए इस मौसम में हरी सब्जियों से किनारा कर लेना चाहिए।


स्प्राउट्स से बनी चीजें खाएं
मोठ, चना, मूंगदाल जैसी चीजें स्वास्थ्य के लिए बेहतर होती हैं। इन्हें भिगोकर स्प्राउटिंग कर सकते हैं। नमक, मिर्च, नींबू के साथ इन्हें साधारण चार्ट बनाकर भी खाया जा सकता है और इनकी सब्जियां बनाकर भी खाने से यह फायदा करती हैं। स्प्राउट से पूरा विटामिन मिलता है। इसके साथ ही बेसन सहित अन्य दाल के फ्लोर से बनी सब्जियां खाई जा सकती हैं। यह सीजन ऐसा होता है कि बाहर का चटपटा खाने का मन करता ही है। चाट, फुल्की, भेलपुड़ी, समोसे, पकोड़े, भजिया जैसी चीजें खाने में मनाही नहीं है, लेकिन साफ सफाई का ध्यान रखा जाए।


कॉर्न से बनती है ढेरों डिशेज
इस सीजन में कॉर्न बहुत आता है। इसे पीसकर इसके कई तरह के ब्रेकफास्ट तैयार किए जा सकते हैं। इनमें ब्रेड, पकौड़ा, सैंडविज जैसी चीजें शामिल हैं। कॉर्न की सब्जियां भी बनाई जा सकती है। कॉर्न में कॉल में अधिक मात्रा में न्यूट्रिशन तो नहीं होता, लेकिन जब यह टमाटर और अन्य वेजिटेबल के साथ मिलता है तो इसकी न्यूट्रीशन वैल्यू बढ़ जाती है।


इन चीजों का करें फॉलो
ऐसा खाना खाएं, जो आराम से पच जाता हो।
गर्म खाना खाएं
सब्जियों में तोरी, लौकी, टमाटर, भिंडी, प्याज, पुदीना ले सकते हैं।
फलों में अनार, सेब, केला खाएं।

deepankar roy Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned