यहां अध्यात्म से लेकर विज्ञान के शुरू होंगे नए कोर्स

जबलपुर में विश्वविद्यालय प्रशासन शुरू कर रहा तैयारी, नए सत्र में छात्रों को मिल सकती है सौगात

 

 

By: shyam bihari

Updated: 10 Apr 2021, 08:31 PM IST

जबलपुर। रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय, जबलपुर में अब पारम्परिक कोर्स से हटकर नए पाठ्यक्रम भी शुरू किए जाएंगे। अध्यात्म से लेकर ज्ञान विज्ञान से जुड़े विषयों पर विवि में पढ़ाई की जा सकेगी। विवि प्रशासन ने सभी विभाग अध्यक्ष से नए पाठ्यक्रमों का प्रस्ताव मांगा है। कुछ विभाग ऐसे प्रस्ताव तैयार कर प्रशासन को अवगत करा चुके हैं। अध्ययन मंडल में ये प्रस्ताव रखे जा रहे हैं।
रामचरितमानस पर पढ़ाई
विवि के हिन्दी, संस्कृत विभाग ने हिन्दी में रामचरित मानस की पढ़ाई कराने का प्रस्ताव दिया है। इस पर एक साल का डिप्लोमा कोर्स शुरू किया जा सकता है। छात्रों को ऊर्जावान बनाने से लेकर श्रीमद् भागवत के विभिन्न पहलुओं, श्रीकृष्ण के युवाओं से जुड़े श्लोकों उनके आदर्शों आदि से जुड़ा होगा। पत्रकारिता विभाग म्यूजिक में पढ़ाई शुरू कराने के प्रस्ताव पर काम कर रहा है। इसमें ६ माह से लेकर १ साल का सॢटफिकेट कोर्स होगा। वादन, गायन के साथ ही नृत्य को भी शामिल किया जा रहा है। अभी तक इस तरह का कोई भी कोर्स विवि में नहीं है। छात्र सर्टिफिकेट प्राप्त कर खुद दूसरों को ट्रेनिंग दे सकेगा। अपना संस्थान खोल सकेगा। उद्यमिता कोशल विकास केंद्र द्वारा उद्यमिता विकास को लेकर सर्टिफिकेट कोर्स शुरू करने पर काम किया जा रहा है। रादुविवि के कौशल विकास संस्थान द्वारा युवाओं को कौशल की ट्रेनिंग के माध्यम से उन्हें उनके पैरों पर खड़ा किया जाएगा। कुछ अन्य कोर्स सोलर ऊर्जा, डीआईसी कोर्स को भी शुरू करने पर काम किया जा रहा है।

विवि में नए कोर्सों को शुरू करने के पहले सभी संकायाध्यक्षों को डीन के गठित अध्ययन मंडल से अनुमति लेनी होगी। इसके बाद प्रस्ताव को स्टेङ्क्षडग कमेटी से पास कराना होगा। हालांकि कुछ पर अध्ययन मंडल द्वारा मोहर लगा दी गई है। रानी दुर्गावती विवि के कुलपति प्रो. कपिलदेव मिश्र ने बताया कि श्रीमद्भागवत गीता बहुत बड़ा मनोविज्ञान है। युवाओं में आत्मबल देने, ऊर्जावान बनाने, आत्मशक्ति जागृत करने, सही गलत का ज्ञान कराने को लेकर हम अध्यात्म पर कोर्स शुरू करने जा रहे हैं। इसकी विशेषता होगी कि इसमें उम्र का कोई बंधन नहीं होगा। इसके साथ ही कुछ अन्य नए कोर्सों पर भी काम किया जा रहा है। कोशिश है कि नए सत्र में इसकी शुरुआत की जा सके।

Show More
shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned