बारिश को लेकर जबलपुर में हाई अलर्ट जारी, डूबी सडक़ें घरों में घुसा पानी- देखें वीडियो

Lalit Kumar Kosta | Updated: 08 Aug 2019, 11:55:21 AM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

- तीन घंटे में दो इंच बारिश
- देर रात तक जारी रहा बारिश का सिलसिला
- शहर के कई इलाकों में पानी भरा
- शाम को सडक़ों पर लगा जाम
- कई इलाकों में बिजली गुल
- तापमान में स्थिरता
- सडक़ें बनीं तालाब, नाले उफनाए, घरों में भरा पानी
- इन इलाकों के घरों में भरा पानी
- निगम के दावों की पोल खुली

जबलपुर. सोमवार रात से झमाझम बारिश की खेप लेकर आए काले बादल बुधवार को भी खूब बरसे। बुधवार सुबह तेज धूप थी। लेकिन, शाम चार बजे के बाद घने-काले बादल ऐसे उमड़े कि दिन में ही रात का अहसास हुआ। गरज-चमक के साथ शुरू हुई बारिश करीब एक घंटे तक लगातार चली। इस दौरान शहर के कई क्षेत्रों में जलभराव हो गया। कई जगह गलियों-रास्तों में पानी भरने और तेज बहाव के कारण यातायात बाधित हुआ। इससे ऑफिस छूटने के बाद शाम 5.30 से 7 .30 बजे के बीच कई जगह जाम की स्थिति बनी। बारिश के साथ ही कई जगह बिजली गुल हो गई। कई इलाकों में देर रात तक बिजली नहीं थी। बारिश का दौर रात तक जारी रहा। मौसम विभाग के अनुसार शाम 5.30 बजे से रात 08.30 बजे के बीच 46.2 मिमी बारिश दर्ज की गई। अगले दो दिनों के दौरान सम्भाग के कई स्थानों पर गरज-चमक के साथ बारिश हो सकती है।

 

high alert in jabalpur

मौसम विभाग में वैज्ञानिक सहायक देवेंद्र कुमार तिवारी के अनुसार मीन सी लेवल पर गंगासागर, हिसार, मैनपुरी, मिर्जापुर, जमशेदपुर होते हुए और दक्षिण गुजरात से उत्तरी महाराष्ट्र, दक्षिणी छत्तीसगढ़ होते हुए उत्तर पश्चिम बंगाल की खाड़ी तक हवा के ऊपरी भाग में दो द्रोणिका बनी है। इसके अलावा उत्तर पश्चिम बंगाल की खाड़ी में उड़ीसा पश्चिम बंगाल के समुद्री तट पर एक डिप्रेशन (अवदाब) बन गया है। इसके अगले 24 घंटे में और गहरा हो कर गहरा अवदाब में बदलने की संभावना है। यह सिस्टम पश्चिम उत्तर पश्चिम दिशा में उड़ीसा पश्चिम बंगाल समुद्र तट को पार कर आगे बढऩे की संभावना है। इनके प्रभाव से शहर में बारिश हो रही है।

high alert in jabalpur

तापमान में स्थिरता

मौसम विभाग के अनुसार बारिश के कारण तापमान में भी स्थिरता बनी हुई है। बुधवार को अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री अधिक 31.1 डिग्री सेल्सियस था। न्यूनतम तापमान 24.4 डिग्री सेल्सियस रेकॉर्ड किया गया। आद्र्रता सुबह के समय 92 प्रतिशत और शाम को 95 प्रतिशत दर्ज की गई है। उत्तर-पूर्वी हवा 3 किमी प्रतिघंटे की औसत गति से चली।

 

high alert in jabalpur

सडक़ें बनीं तालाब, नाले उफनाए, घरों में भरा पानी

शाम को तेज बारिश के बाद सडक़ेंलबालब हो गईं। नाले उफान पर आ गए। मदन महल अंडरब्रिज भर जाने के कारण शास्त्रीब्रिज व गढ़ा शुक्ला नगर मार्ग पर भी जाम लग गया। नालों का पानी सडक़ों में भर जाने के कारण कई मार्गों में यातायात व्यवस्था प्रभावित हुई। शहर के गोलबाजार, सिविक सेंटर, विजय नगर, बल्देवबाग, गढ़ा, ग्वारीघाट, सिविक सेंटर, ,अधारताल, घमापुर, कांचघर, रांझी समेत कई और इलाकों में पानी भर गया। शहरभर में जलभराव को लेकर शाम छह से लेकर रात आठ बजे तक कं ट्रोल रूम के फोन घनघनाते रहे। नगर के तीस से ज्यादा इलाकों में जलभराव की स्थिति बनी। सूचना पर कई क्षेत्रों में मदद के लिए नगर निगम की टीम भेजी गई।

 

high alert in jabalpur

इन इलाकों के घरों में भरा पानी
बाई का बगीचा घमापुर, कं जड़ मोहल्ला, कांचघर द्वारका नगर, ठक्करग्राम, अधारताल कं चनपुर, संगम कॉलोनी, छोटी उखरी, चेरीताल, बल्देवबाग, विजय नगर कचनार सिटी, गंगा नगर चंदन कॉलोनी, नवनिवेश कॉलोनी, धनवंतरि नगर परसवारा बस्ती, ग्वारीघाट दुर्गा नगर, तिलहरी नई बस्ती क्षेत्रों में बड़ी संख्या में घरों में बारिश का पानी भर गया। जिसके बाद पानी निकालने में लोगों को घंटों मशक्कत करना पड़ी।

निगम के दावों की पोल खुली

बारिश का सीजन शुरू होने से पहले जून के महीने में निगम प्रशासन दावा कर रहा था कि शहरभर के नाले साफ कर लिए गए हैं। इस बार जलभराव की स्थिति से निबटने हर सम्भव आवश्यक इंतजाम किए गए हैं, लेकिन शहर के लगभग सभी इलाकों में जलभराव के हालात बने।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned