कॉलोनी में सेक्स रैकेट, फोन पर बुक होती थी GIRLS, देखें वीडियो

क्राइम ब्रांच की कार्रवाई में 6 महिला और 1 व्यक्ति गिरफ्तार

By: Premshankar Tiwari

Published: 17 Feb 2018, 06:57 PM IST

जबलपुर। शहर की एक कॉलोनी में खुलेआम जिस्मफरोशी हो रही थी। देह व्यापार के इस अड्डे का शनिवार को उस वक्त भांडाफोड़ हुआ जब क्राइम ब्रांच की टीम ने वहां छापा मारा। पुलिस की वर्दी में आए जवानों को देखते ही हड़कंप मच गया। मौके पर मौजूद लड़कियों और पुरुषों ने भागने का प्रयास किया। लेकिन पुलिस ने घेराबंदी करके 6 महिलाओं सहित 1 पुरुष को मौके से दबोच लिया। इनसे महिला थाना में पूछताछ की जा रही है।

सुहागी में कार्रवाई
पुलिस को कई दिनों से अधारताल थानांतर्गत एक कॉलोनी में देह व्यापार की सूचना मिल रही थी। इस पर शनिवार को पुलिस ने कार्रवाई करते हुए सुहागी में श्मशान के पास एक मकान में छापेमारी की। छापे के साथ ही वहां पर हड़कंप मच गया। पुलिस ने जांच की बड़ा सेक्स रैकट सामने आया। एडिशनल एसपी राजेश तिवारी ने सेक्स रैकेट पकड़े जाने की पुष्टि की है। उनके मुताबिक छापे की कार्रवाई जारी है। गिरफ्त में आयी महिलाओं और पुरुष से पूछताछ की जा रही है।

ग्राहक बनकर पहुंची पुलिस
सुहागी में चल रहे देह व्यापार के अड्डे पर क्राइम ब्रांच ने अधारताल पुलिस के साथ संयुक्त कार्रवाई की। पुलिस के अनुसार देह व्यापार की शिकायत मिलने पर छापेमारी की योजना बनाई गई। पहले पुलिस के जवान को सादी वर्दी में ग्राहक बनाकर मौके पर भेजा गया। इसके बाद जैसे ही सादी वर्दी में गए जवानों और देह व्यापार में संलिप्त महिलाओं के बीच सौदा तय हुआ, अंदर मौजूद जवान का इशारा मिलते ही बाहर मौजूद पुलिस फोर्स ने अड्डे को घेर लिया।

आपत्तिजनक हालात में मिली महिलाएं
पुलिस के अनुसार छापे के दौरान मकान में कुछ महिलाएं आपत्तिजनक हालात में मिली। सूत्रों के अनुसार छापे में शादीशुदा महिलाओं के साथ ही अधेड़ उम्र की महिलाएं भी मिली है। ये भी जिस्मफरोशी के धंधे में शामिल थी। प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि देह व्यापार के इस अड्डे का संचालन महिला के द्वारा ही किया जा रहा था। फोन पर महिलाओं की बुकिंग होती थी। फोन पर सौदा तय होने के बाद ही ग्राहक को लोकेशन बताई जाती थी।

Show More
Premshankar Tiwari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned