शहर के सभी प्रवेशद्वार पर लगाए जाएंगे हाई रिजोल्यूशन वाले कैमरे

सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में निर्णय, कंट्रोल रूम भी बनेगा

By: shivmangal singh

Updated: 07 Mar 2020, 01:15 AM IST

जबलपुर. शहर के प्रवेश-निकासी प्वॉइंट, दुर्घटना की आशंका वाले स्थानों के साथ महिला सुरक्षा के मद्देनजर सभी महत्वपूर्ण स्थानों पर स्मार्ट सिटी के माध्यम से हाई रिजोल्यूशन कैमरे लगाए जाएंगे। यह निर्णय शुक्रवार को जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में लिया गया। इन कैमरों की लिंक पुलिस के पास रहेगी। कैमरों से निगरानी के लिए यातायात पुलिस थाने के ऊपर कंट्रोल रूम भी बनाया जाएगा। कलेक्टर भरत यादव ने इसके लिए स्मार्ट सिटी से प्रस्ताव बनाने के लिए कहा है।
सौंदर्यीकरण कार्यों में लाएं तेजी
बैठक में कलेक्टर ने शहर के प्रमुख चौराहों के सौंदर्यीकरण कार्यों को शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए। चौराहों के लेफ्ट टर्न के निर्माण में अवरोधों को शीघ्र दूर करने तथा बिजली के खम्भों को शिफ्ट करने की कार्यवाही में तेजी लाने के लिए कहा।
बैठक में शहर के प्रवेश मार्ग पर स्थित भेड़ाघाट चौराहा, धनवंतरि नगर चौराहा और कटनी मार्ग पर स्थित सुभाष नगर चौराहे के सौंदर्यीकरण की कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश भी दिए। ग्वारीघाट रोड पर यातायात का दबाव कम करने के लिए तिलहरी से भटौली तक वैकल्पिक मार्ग के निर्माण का भी सुझाव दिया। कलेक्टर कार्यालय में आयोजित बैठक में एसपी अमित सिंह, निगमायुक्त आशीष कुमार, अपर कलेक्टर हर्ष दीक्षित, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी संतोष पाल तथा लोक निर्माण विभाग, राष्ट्रीय राजमार्ग एवं अन्य सभी संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।
ये सुझाव भी आए
-जिले के राष्ट्रीय राजमार्ग और ग्रामीण क्षेत्र की सड़कों के ब्लैक स्पॉट के रूप में चिह्नित कर निरीक्षण के लिए एसडीएम, यातायात पुलिस, पीडब्ल्यूडी व निर्माण एजेंसी की टीम बनाई जाए।
-राष्ट्रीय राजमार्ग विभाग तिलवाराघाट के नए पुल पर सुरक्षा की दृष्टि से दोनों ओर जाली लगाए
-सगड़ा-लम्हेटा मार्ग स्थित एनएच के जंक्शन पर रम्बल स्ट्रिप बनाया जाए
-राष्ट्रीय राजमार्ग या स्टेट हाइवे के उन हिस्सों में जहां दुर्घटनाओं का रिकार्ड है, वहां चेतावनी संबंधी सूचना लगाएं।
- राष्ट्रीय राजमार्ग और ग्रामीण क्षेत्र की सभी सड़कों के किनारे हुए अतिक्रमणों को सख्ती से
हटाया जाए।
-चौथा पुल से सदर जाने वाले भंडारी अस्पताल मार्ग को एकंागी मार्ग घोषित किया जाए।
आवारा मवेशियों की होगी धरपकड़
जबलपुर ञ्च पत्रिका. यातायात व्यवस्थित करने आवारा पशुओं की धरपकड़ करने को लेकर ननि अपर आयुक्त ने शुक्रवार को अमले की बैठक ली। अग्नि शमन विभाग, अतिक्रमण एवं हाका गैंग के अधिकारियों कर्मचारियों के साथ आयोजित बैठक में निर्णय लिया गया कि सड़कों, बाजारों में आवाजारा जानवरों, पशुओं को पकडऩे के लिए दल गठित कर अभियान चलाया जाए। खुले में जानवरों को छोडऩे पर भी दो हजार रुपए जुर्माना लगाया जाएगा।
अपर कलेक्टर संदीप जीआर ने कहा कि इसमें किसी भी तरह की लापरवाही न बरती जाए। अपर आयुक्त राकेश अयाची ने अवगत कराया कि अभियान को सुचारू रूप से चलाने के लिए दो दल गठित कर दिये गए हैं। एक दल के प्रभारी फायर अधीक्षक कुसाग्र ठाकुर एवं दूसरे दल के प्रभारी सहायक अधीक्षक राजेन्द्र पटैल को बनाया गया है। दोनो दल प्रभारियों के नियंत्रण में अतिक्रमण दस्ता के कर्मचारियों के साथ साथ हांका गैंग के कर्मचारी मुख्य मार्गों, चौराहों तथा अन्य सार्वजनिक स्थानों से आवारा जानवरों को पकड़कर कांजी हॉउस पहुंचाने का कार्य करेगें। बैठक सहायक स्वास्थ्य अधिकारी आरपी गुप्ता, केके दुबे आदि उपस्थि रहे।

shivmangal singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned