scriptIf still not taken care, the infection will spread | अभी भी नहीं सम्भले तो फैलेगा संक्रमण | Patrika News

अभी भी नहीं सम्भले तो फैलेगा संक्रमण

जबलपुर शहर में ओमिक्रॉन के खतरे के बीच मास्क पहनने और भीड़ से बचने में लापरवाही

जबलपुर

Published: December 25, 2021 08:43:45 pm

जबलपुर। इस महीने 24 दिन में जबलपुर में कोरोना के 24 नए मरीज मिलें हैं। दो महीने बाद दिसंबर में एक दिन में एक साथ पांच पॉजिटिव केस सामने आएं हैं। कोरोना की तीसरी लहर की संभावना के बीच संक्रमण के बढ़ते मामलों ने चिंता बढ़ाई है। जानकारों का मानना है कि अभी भी नहीं संभलें और पहले की तरह कोरोना से बचाव के उपाय नहीं किए तो संक्रमण को लेकर हालात बिगड़ सकते हैं। भोपाल-इंदौर में कोरोना के नए केस बढऩे और पड़ोसी राज्यों के ओमिक्रॉन की गिरफ्त में आने के बीच शहर में संक्रमण के फैलाव का खतरा बढ़ गया है। बाहर से आ रहे लोग जांच में लगातार पॉजिटिव मिल रहे हैं। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है। विदेशों से आने वालें लोगों की लगातार निगरानी की जा रही है। एयरपोर्ट से लेकर रेलवे स्टेशन में यात्रियों के कोविड सेंपल की संख्या बढ़ा दी गई है। ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज लगाकर कोरोना का सुरक्षा चक्र प्रदान करने की कवायद हो रही है। ताकि संक्रमण की तीसरे लहर के खतरें से शहर को उबारा जा सकें। राहत वाली बात ये है कि अगस्त में कोरोना से हुई एक मौत के बाद किसी भी संक्रमित ने दम नहीं तोड़ा है। उपचार से संक्रमित स्वस्थ्य हुए हैं।्र

corona  review
corona review

हर दिन पांच हजार से ज्यादा सैम्पलिंग
शहर में कोरोना के दोबारा फैलाव को रोकने के लिए सेंपलिंग बढ़ा दी गई है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से प्रतिदिन पांच हजार से ज्यादा लोगों के नमूने की जांच कराई गई है। प्रत्येक स्वास्थ्य केन्द्र, फीवर क्लीनिक और सेंपलिंग टीम के लिए प्रतिदन नमूने के लक्ष्य निर्धारित किए गए हैं। इनकी आरटीपीसीआर जांच कराकर संक्रमण की उपस्थिति की स्थिति का आंकलन किया जा रहा है। ओमिक्रॉन को लेकर बरती जा रही सतर्कता के बीच जीनोम सिक्वेंसिंग की जांच रिपोर्ट देर से मिल रही है। इस महीने जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजे गए कोरोना संक्रमितों के नमूने की रिपोर्ट दिल्ली से अभी तक नहीं आयीं है। इसके कारण नए वैरिएंट का खतरा लगातार बना हुआ है। हालांकि जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए हाल में भेजे गए नमूनों में संबंधित मरीजों में कोई गंभीर लक्षण नहीं उभरे हैं। ये राहत वाली बात है।्र

48 घंटे में तीन रिपोर्ट, एक पॉजिटिव, दो निगेटिव
स्वास्थ्य विभाग की जांच में गुरुवार को कोरोना संक्रमित मिलें एक संगठन के राष्ट्रीय अधिवेशन में आए एक वरिष्ठ पदाधिकारी रिपीट टेस्ट में निगेटिव मिलें हैं। भोपाल से आए इस पदाधिकारी की 48 घंटे के अंदर तीन बार कोविड जांच हुई। बुधवार को दिए गए सेंपल की गुरुवार को मेडिकल कॉलेज से मिली जांच रिपोर्ट में पदाधिकारी को कोविड पॉजिटिव बताया गया था। इसके बाद निजी लैब में हुई जांच में रिपोर्ट निगेटिव आयीं थी। इससे असमंजस की स्थिति निर्मित हो गई थी। इस पर गुरुवार की रात को रिपीट सेंपल एनआईआरटीएच-आइसीएएमआर को भेजा गया। इसकी शुक्रवार को सुबह मिली रिपोर्ट कोविड निगेटिव है। फिर भी एहतियातन पदाधिकारी के संपर्क में आए लोगों के कोविड नमूने लेकर जांच कराई जा रही है। जानकारों के अनुसार दूसरी लहर के बाद कोरोना के मरीज कम होते ही लोगों ने लापरवाही बरतना शुरू कर दी है। मास्क लगाने में लापरवाही हो रही है। संक्रमण के नए खतरे से बचने के लिए भी पहले जैसी पुरानी आदतों की पालना करना होगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.