मोटर बोट में हाइफाइ डिवाइस लगाकर निकाल रहे थे रेत, फिर हुआ कुछ ऐसा

मझौली के हिरन नदी कूड़ा घाट पर प्रशासन की दबिश, दो डिवाइस पकड़ी

By: sudarshan ahirwa

Published: 19 Jan 2019, 07:00 AM IST

जबलपुर. मझौली तहसील के कूड़ा हिरन नदी घाट पर शुक्रवार शाम प्रशासन ने दबिश दी। प्रशासनिक अमले को देख रेत माफिया मोटर बोट को गहरे पानी में डुबोकर भाग गए। प्रशासनिक अमले ने मशक्कत के बाद गहरे पानी में डूबी मोटर बोट और हाइफाइ डिवाइस मशीन को रात दस बजे के करीब बाहर निकाला जा सका।निकाला। दोनों डिवाइस को निकालने के लिए उसे दूसरे घाट की तरफ ले जाना पड़ा। मोटर को वोट को जब्त कर इंद्राना पुलिस चौकी में खड़ा करवाया गया है। चौकी पुलिस ने संबंधित बोट मालिक के खिलाफ रेत के अवैध उत्खनन और परिवहन का प्रकरण दर्ज कर लिया है।

मझौली तहसीलदार अनूप श्रीवास्तव ने बताया कि शाम पांच बजे सूचना मिली कि हिरन नदी के कूड़ा घाट पर मोटर बोट में हाइफाइ डिवाइस लगाकर रेत का अवैध उत्खनन लम्बे समय से रहा है। सूचना पर आरआई और पटवारी के साथ घाट पर पहुचे। अमले को देखते ही रेत माफिया के गुर्गे मोटर बोट को गहरे पानी में डुबोकर भाग खड़े हुए। मोटर बोट को गहरे पानी से निकालने के लिए गांव के लोगों को बुलाया गया, लेकिन अंधेरा और नदी में पानी अधिक होने के कारण बोट को निकालने में परेशानी का सामना करना पड़ा। मोटर बोट को निकालन के लिए और लोगों को बुलाकर दूसरे घाट तक ले जाया गया। रात दस बजे के करीब वोट को बाहर निकाला जा सका।

आधारताल के किसी व्यक्ति की हैं डिवाइस और बोट
तहसीलदार ने बताया कि घाट पर मिनी हाइफाइ डिवाइस लगी मोटर बोट अधारताल के सुरेंद्र पटेल की बताई जा रही है। मोटर बोट को निकालने के लिए ट्रैक्टर और दूसरे संसाधन बुलवाएं गए। मोटर को वोट को जब्त कर इंद्राना पुलिस चौकी में खड़ा करवाया गया है। संबंधित बोट मालिक के खिलाफ रेत के अवैध उत्खनन और परिवहन का प्रकरण दर्ज कर लिया है।

sudarshan ahirwa
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned