बड़ी खबर: आतंकवादियों को बेच दी सेना की एके-47! इस फैक्ट्री से चुराई

बड़ी खबर: आतंकवादियों को बेच दी सेना की एके-47! इस फैक्ट्री से चुराई

Lalit kostha | Publish: Sep, 08 2018 09:32:31 AM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

बड़ी खबर: आतंकवादियों को बेच दी सेना की एके-47! इस फैक्ट्री से चुराई

 

जबलपुर। देश की सुरक्षा में सेंध लगाने का काम यहां आयुध निर्माणी में काम करने वाले पूर्व कर्मचारी ने ही किया है। चंद रुपयों के लालच में उसने व उसके सहयोगियों ने जिनमें कुछ आर्मी ऑफिसरों के नाम भी शामिल हैं, ने आतंकवाद और देशद्रोह जैसी वारदातों को अंजाम देने वालों को एके-47 राइफलें बेच दी हैं। जबलपुर पुलिस ने इस मामले में बड़ा खुलासा करते हुए उसके अन्य सहयोगियों को गिरफ्तार कर लिया है। रोज नए नए खुलासे हो रहे हैं।

news facts- ओएफके डिपो से एके-47 चोरी कर बेचने का मामला
मुंगेर में दो आरोपी और जबलपुर में शस्त्रसाज की पत्नी गिरफ्तार

ऑर्डनेंस फैक्ट्री डिपो से कलपुर्जे के रूप में 70 एके-47 चोरी कर अपराधियों को बेचने के प्रकरण में एमपी और बिहार पुलिस को एक और सफलता मिली है। बिहार की मुंगेर पुलिस ने रिटायर्ड आरमोरर नियाजुल हसन और शमशेर को गिरफ्तार कर लिया है। उसके पास से 3 एके-47 रायफल मिलने की बात सामने आयी है। वहीं जबलपुर की क्राइम ब्रांच ने शस्त्रसाज पुरुषोत्तमलाल की पत्नी चंद्रवती को गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से पुलिस ने 2.30 लाख रुपए नकद और सात लाख रुपए के सोने व चांदी के जेवर जब्त किए हैं।

मुंगेर पुलिस ने गुरुवार रात को बरदहा निवासी नियाजुल हसन और शमशेर को गिरफ्तार कर लिया है। उसकी निशानदेही पर तीन एके-47 रायफल उसके उपकरण और मैगजीन आदि जब्त किए जाने की सूचना है। उधर, गिरफ्त में आयी चंद्रवती को लेकर क्राइम ब्रांच की टीम बीडीएस के साथ शुक्रवार को मंडला रोड स्थित गौर नदी पुल पर पहुंची। चंद्रवती से उस स्थान की तस्दीक करायी, जहां से एके-47 रायफल के कलपुर्जे पुरुषोत्तमलाल और बेटे शीलेंद्र ने उसकी मौजूदगी में फेंका था। एक सितम्बर को तीनों ने कलपुर्जे गौर नदी में फेंक दिए थे।

इंडोस्कोपी कैमरा दे गया जवाब
बीडीएस टीम ने पानी के अंदर मेटल को खोज लेने वाले इंडोस्कोपी कैमरे की मदद से बताए गए स्थान पर कलपुर्जे तलाश करने की कोशिश की। मगर गौर नदी के तेज बहाव में कैमरा स्थिर नहीं हो पा रहा था। लगभग घंटे भर की मशक्कत के बाद टीम वहां से लौट आयी। जबलपुर पुलिस ने सीओडी स्थित आरएसएसडी गोदाम की जांच करने के लिए वहां के सुरक्षा अधिकारी को पत्र लिखकर अनुमति मांगी है।

READ MORE- बड़ी खबर: इन नेताओं को सेना के अफसरों ने बेची 50 एके-47, ये नाम आए सामने!

सीओडी कमाडेंट ने की सुरक्षा की समीक्षा : उधर, सीओडी कमाडेंट ब्रिगेडियर आरके सिंह ने शुक्रवार को यूनियन के सभी लोगों के साथ बैठक कर सुरक्षा की समीक्षा की। बिग्रेडियर ने सीओडी परिसर में सिविलियन वाहनों के प्रवेश पर पूर्णत: रोक लगा दी है। उधर, क्राइम ब्रांच द्वारा आठ दिन की रिमांड पर लिए गए वर्ष 2008 में आरमोरर पद से रिटायर्ड पुरुषोत्तमलाल, उसके बेटे शीलेंद्र और सीनियर स्टोर मैनेजर के पद पर कार्यरत सुरेश ठाकुर से पूरे दिन अलग-अलग एजेंसियों ने पूछताछ की। आइबी के अधिकारी भी तीनों से पूछताछ करने पहुंचे थे। वहीं बिहार पुलिस और सेना के इंटेलीजेंस विभाग ने भी तीनों से पूछताछ कर कई अहम जानकारी जुटाई।

29 अगस्त को मुंगेर पुलिस ने इमरान को तीन एके-47 रायफल और कलपुर्जे के साथ गिरफ्तार किया था। जबलपुर की क्राइम ब्रांच ने रीवा से पुरुषोत्तमलाल उसके बेटे शीलेंद्र को चार सितम्बर की रात में गिरफ्तार किया।

Ad Block is Banned