पानी रे पानी...तेरी कदर न जानी

पानी रे पानी...तेरी कदर न जानी
water

Shyam Bihari Singh | Publish: Aug, 13 2019 08:56:29 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

नर्मदा किनारे बसे इस के शहर में जलप्लावन, सूखे का अहसास एक साथ

जबलपुर। नर्मदा जैसी साफ-सुथरी नदी के किनारे बसे जबलपुर शहर में पानी को लेकर अजीब सी स्थिति है। यहां एक तरफ साल भर शहर के कुछ हिस्सों में पानी का संकट रहताहै। दूसरी तरफ कई क्षेत्रों में पानी की पाइप लाइन से हजारों लीटर पानी बेकार बहता रहता है। इस बार यहां बारिश कम हो रही है। फिर भी हल्की बारिश होने के साथ ही शहर के कई हिस्सों में जलप्लावन की स्थिति बन जाती है। पता है कि बारिश का ग्राफ तेजी से गिर रहा है। इसके बावजूद यहां पानी बचाने के लिए कोशिशें बहुत कम की जा रही हैं। वाटर हार्वेस्टिंग को लेकर जागरुकता अभाव साफ दिखता है।

जबलपुर शहर में नगर निगम शहर की जलापूर्ति व्यवस्था पर हर साल करोड़ों खर्च होते हैं। लेकिन, जल शोधन संयंत्रों से लेकर पाइप लाइन के लीकेज व अन्य कारणों से रोजाना हजारों गैलन पानी व्यर्थ बह जा रहा है। जिन घरों में पानी पहुंचता भी है, उसके शुद्ध होने की गारंटी नहीं रहती। उधर, जिम्मेदार दावा कर रहे हैं कि जलापूर्ति बेहतर ढंग से हो और प्लांट से लेकर पाइप लाइन के माध्यम से आपूर्ति के दौरान पानी के नुकसान के कमी लाई जा सके, इसके लिए आवश्यक कदम उठाएंगे।
एक अच्छी पहल
जबलपुर शहर की पहाड़ी से होकर बह जाने वाला वर्षा जल अब भू गर्भ में पहुंचाया जाएगा। यहां के चौहानी मुक्तिधाम के समीप वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम विकसित करने के लिए अच्छी पहल की गई है। नगर निगम की ओर से स्मार्ट सिटी योजना के तहत स्थापित किए जा रहे वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के लिए बोरिंग खनन भी किया गया है। ताकि, पानी को जमीन में गहराई तक पहुंचाया जा सके। इस क्षेत्र में भू जल स्तर बेहतर होने पर आसपास रोंपे गए पौधों का भी बेहतर विकास हो सकेगा।
बारिश का पानी पहाडिय़ों से होकर जमीन में पहुंचाया जा सके इसके लिए गोंडवाना साम्राज्य के दौरान पहाडिय़ों के समीप तालाब बनाए गए थे। इनमें देवताल, कोल्हा ताल, सूपाताल, गोकलपुर तालाब शामिल हैं। इसी दिशा में मौजूदा आवश्यकता के अनुसार चौहानी मुक्तिधाम क्षेत्र में वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम विकसित किया जा रहा है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned