scriptipl satta app, online cricket satta app, live cricket satta rates | आईपीएल सट्टा खिलाने वाला एप होगा बंद, मप्र पुलिस कर रही ये तैयारी | Patrika News

आईपीएल सट्टा खिलाने वाला एप होगा बंद, मप्र पुलिस कर रही ये तैयारी

आईपीएल सट्टा खिलाने वाला एप होगा बंद, मप्र पुलिस कर रही ये तैयारी

 

जबलपुर

Published: April 26, 2022 10:49:35 am

जबलपुर। दुबई में बैठकर फूटाताल निवासी आजम खान और अंधेरदेव निवासी निक्की जैन के जरिए शहर में आइपीएल और क्रिकेट का सट्टा खिलाने वाले सतीश सनपाल के ऐप की जांच पुलिस द्वारा साइबर एक्सपर्ट की टीम से कराई जा रही है। इसके जरिए आजम शहर के बुकियों को मास्टर आइडी देता था। साइबर एक्सपर्ट की टीम जांच कर ऐप बनाने वाली कम्पनी से सम्पर्क कर उसे बंद कराने की कोशिश कर रही है। दिलीप खत्री था सतीश के भाई का पार्टनर, दुबई भी गया-दिलीप खत्री का नाम भी क्रिकेट के सट्टे में सामने आता रहता है। जानकारी के अनुसार दिलीप और उसके परिजन लम्बे समय से सट्टा खिला रहे हैं।

ipl satta app
ipl satta app

पुलिस को यह भी पता चला है कि सतीश सनपाल के भाई संजय सनपाल के साथ दिलीप खत्री, माया और दीना ङ्क्षसधी की पार्टनरशिप थी। संजय ने दुबई से काम करने की बात कही तब दिलीप ने उससे पार्टनरशिप खत्म कर ली थी। हालांकि दोनों के रिश्ते खत्म नही हुए। पिछले कुछ वर्षों में दिलीप व अन्य बुकी कई बार दुबई गए। वहां उनकी मुलाकात सतीश और संजय से हुई। कुछ माह पूर्व सतीश ने दुबई के एक होटल में शहर के सभी बुकियों को पार्टी भी दी थी।

ipl.png

सतीश आबूधाबी शिफ्ट
दुबई के बाद सतीश आबूधाबी में शिफ्ट हो गया है। जबकि उसका ऑफिस दुबई में ही है। आजम, निक्की व अन्य लोग उसके गोवा के कसीनों का काम देखते थे। यहां से क्लब बंद करने के बाद सतीश ने दुबई की शेख जैद रोड पर क्लब बनाया है। समय-समय पर शहर के बड़े बुकियों और सटोरियों को आजम के माध्यम से दुबई बुलाकर क्लब ले जाया जाता था।

एमसीएक्स का भी था काम
सतीश और उसका भाई संजय सनपाल एमसीएसक्स समेत सभी प्रकार के सट्टे का धंधा ऑपरेट कर रहे हैं। कुछ साल पहले कटंगा-बंदरिया तिराहा मार्ग पर पुलिस ने छापा मारकर सजंय के एमसीएक्स के सट्टे का खुलासा किया था। हालांकि उस वक्त वह पुलिस के हाथ नहीं सका।

यह है मामला
मदन महल पुलिस ने शनिवार को होमसाइंस कॉलेज के पास दबिश देकर फूटाताल निवासी दीपक पटेल और होम साइंस कॉलेज के पीछे रहने वाले सुनील ठाकुर को मोबाइल ऐप के माध्यम से सट्टा लिखते हुए पकड़ा था। उनके पास से एक टीवी, एक सेटटॉप बॉक्स, एक कैल्कुलेटर, बाइक एमपी 20 एनटी 5786, 1790 रुपए और लाखों का हिसाब किताब बरामद हुआ था। पूछताछ में सुनील और दीपक ने बताया कि वे फूटाताल निवासी आजम खान और अंधेरदेव निवासी निक्की जैन के लिए काम करते थे। सट्टे में उनका नाम न आए, इसलिए आजम और निक्की उनसे वॉट््स ऐप कॉल या मैसेज के जरिए बात करते थे।

साइबर एक्सपर्ट की टीम की मदद से उस ऐप की जांच कराई जा रही है, जिसके जरिए क्रिकेट और आइपीएल का सट्टा लिखा जाता था। ऐप को बंद कराने के प्रयास भी किए जाएंगे।
- नीरज वर्मा, टीआई, मदन महल

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में हैदराबाद में शुरू हुई BJP राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठकUdaipur Kanhaiya Lal Murder Case में बड़ा खुलासा: धमकियों के बीच कन्हैयालाल ने एक सप्ताह पहले ही लगवाया था CCTV, जानिए पुलिस को क्या मिला...Udaipur Kanhaiya Lal Murder Case : कोर्ट तक यूं सुरक्षित पहुंचे कन्हैया हत्याकांड के आरोपी लेकिन...ऋषभ पंत 146, रवींद्र जडेजा 104, टीम इंडिया का स्कोर 416, 15 साल बाद दोनों ने रच दिया बड़ा इतिहासMumbai: बीजेपी सांसद हेमा मालिनी ने मुंबई की सड़कों पर गड्ढों को देखकर जताई चिंता, किया पुराने दिनों को याद250 मिनट में पूरा हुआ काशी का सफर, कानपुर-वाराणसी सिक्स लेन का स्पीड ट्रायल सफलनूपुर शर्मा के खिलाफ कोलकाता पुलिस ने जारी किया लुकआउट नोटिस, समन के बाद भी नहीं हुई हाजिरMaharashtra Politics: देवेंद्र फडणवीस किसके कहने पर महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम बनने के लिए हुए तैयार, सामने आई बड़ी जानकारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.