#flight search हाईजैक विमान खड़ा करने यहां बन रहा है आइसुलेशन-वे

#flight search हाईजैक विमान खड़ा करने यहां बन रहा है आइसुलेशन-वे
flight

Virendra Kumar Rajak | Updated: 06 Oct 2019, 10:05:54 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

14 एकड़ जमीन पर होगा निर्माण, एयरपोर्ट अथॉरिटी बनाएगी आईसुलेशन वे

जबलपुर, बड़े एयरपोर्ट की तर्ज पर डुमना एयरपोर्ट आसुलेशन-वे का निर्माण किया जाएगा। 14 एकड़ भूमि में इसका निर्माण होगा। यदि विमान हाईजैक होता है, तो इसे आस। ताकि इसका असर मुख्य रन-वे और टॢमनल बिल्डिंग पर न पड़े, साथ ही यात्री भी सुरक्षित रहें। जिला प्रशासन से जमीन हस्तांतरित होते ही इस पर काम शुरू हो जाएगा। जानकारी के अनुसार विस्तारीकरण में इसे पहले ही शामिल कर लिया गया था। जिसके बाद एयरपोर्ट अथॉरिटी ने प्रदेश शासन से जमीन मांगी थी।
यहां की कनेक्टिविटी:- दिल्ली, मुंबई, अहमदाबाद, कोलकाता, हैदराबाद
रोजाना यात्रा करने वाले यात्री:- 1000 औसत
शहर संवेदनशील, इसलिए आवश्यक
एयरपोर्ट का विस्तारीकरण अगले 50 सालों को ध्यान में रखकर किया जा रहा है। जबलपुर में सेना का मध्य भारत एरिया का हेडक्वार्टर व प्रशिक्षण संस्थान समेत आयुध निर्माणियां हैं, इसके चलते यह शहर संवेदनशील है। यही कारण है कि डुमना एयरपोर्ट पर भी आसुलेशन वे बनाने का प्रस्ताव कुछ समय पूर्व तैयार किया गया।
फैक्ट फाइल
- 419 करोड़ रुपए है सम्पूर्ण विस्तार कार्य की लागत
- 2021 तक पूरा होना है काम
- 75 यात्री है वर्तमान टर्मिनल बिल्डिंग की क्षमता
- 500 यात्री क्षमता होगी विस्तार के बाद टर्मिनल बिल्डिंग की
- 9000 वर्ग फीट है टर्मिनल बिल्डिंग का क्षेत्रफल
- 1988 मीटर है रन-वे की वर्तमान लम्बाई
- 4738 मीटर होगी विस्तार के बाद रन-वे की लम्बाई
- 206 करोड़ रुपए से हो रहा रन-वे का निर्माण
ब्लू प्रिंट तैयार, एक्सपर्ट बनाएंगें वे
जानकारी के अनुसार आसुलेशन वे का ब्लू प्रिंट तैयार कर लिया गया है। केबिनेट से 14 एकड़ जमीन नि:शुल्क मिलने का प्रस्ताव पारित कर दिया गया। जमीन हस्तांतरित होते ही एक्सपर्ट की टीम विस्तारीकण के साथ ही आइसुलेशन वे का निर्माण भी शुरू कर देगी।
एंटीहाईजैकिंग स्क्वाड होगी तैनात
आसुलेशन-वे के निर्माण के बाद यहां एंटी हाईजैङ्क्षकंग स्क्वाड की भी तैनाती होगी। आधुनिक शस्त्रों से लैस यह स्क्वाड हर वक्त तैयार रहेगा। इसके साथ ही इस वे पर फायर बिग्रेड और एंबुलेंस समेत अन्य आपताकालीन सेवाएं भी 24 घंटे मौजूद रहेंगीं।
वर्जन
- एयरपोर्ट को जमीन को लेकरशासन का अनुमोदन मिल चुका है, पत्र मिलते ही स्थानीय स्तर पर जमीन हस्तांतरण की कार्रवाई की जाएगी।
भरत यादव, कलेक्टर
- डुमना एयरपोर्ट में आइसुलेशन-वे बनाया जाना है। इसके लिए जमीन मांगी गई थी। जमीन के हस्तांतरण के साथ ही आसुलेशन वे निर्माण की प्रक्रिया शुरू होगी।
मनोज सिंह, डायरेक्टर, एयरपोर्ट

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned