ऑक्सीजन कमी के मुद्दे पर घिरा प्रशासन तो नजर आई सख्ती

जबलपुर में चिकित्सा शिक्षा आयुक्तने कहा-जरूरत से पांच गुना सिलेंडर स्टोर करें, किसी मरीज की ऑक्सीजन की कमी से मौत न हो

 

By: shyam bihari

Published: 15 Sep 2020, 08:53 PM IST

जबलपुर। कोरोना संक्रमित बढऩे के बाद जबलपुर शहर में महाराष्ट्र से लिक्विड की आपूर्ति रुकने से गहराए ऑक्सीजन संकट का मामला प्रशासनिक और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की बैठक में उठा। कोविड व्यवस्था की समीक्षा करने भोपाल से आए चिकित्सा शिक्षा आयुक्तनिशांत वरबड़े ने ऑक्सीजन गैस सप्लायर्स और वेंडर्स के साथ बैठक की। बैठक में यह बात निकलकर आई कि उड़ीसा और छत्तीसगढ़ से टैंकर आने के बाद ऑक्सीजन की आपूर्ति सामान्य हो गई है। लेकिन, ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी बनी हुई है। खाली सिलेंडर कम संख्या में होने के कारण ऑक्सीजन की अस्पतालों तक शीघ्रता से आपूर्ति में बाधा आ रही है। इस पर आयुक्तने वेंडर्स और प्राइवेट अस्पतालों को सिलेंडर लेने और नए ऑक्सीजन प्लांट लगाने के लिए आवश्यक प्रयास करने के अधिकारियों को निर्देश दिए। मेडिकल कॉलेज के अधिकारियों निर्देशित किया वर्तमान आवश्यकता से पांच गुना सिलेंडर स्टोर करें। खाली और भरे सिलेंडर का पूरा हिसाब-किताब हो। यह सुनिश्चित कर लें कि किसी मरीज की मृत्यु ऑक्सीजन की कमी से न हो।

बैठक में मेडिकल कॉलेज में मानव संसाधन की कमी को लेकर चर्चा हुई। मैनपावर की कमी को स्थानीय और राज्य स्तर पर मिलकर दूर करने का आश्वसन दिया। कहा कि आयुर्वेदिक, यूनानी और होम्योपैथी के जितने भी इंटर्न हैं उनसे कोरोना रोकथाम में सेवायें लें यदि वे इस कोरोना आपदा काल में नहीं आते हैं तो उनके मान्यता समाप्त करने की कार्रवाई करें। सामान्य लक्षण वाले मरीजों को भी मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिए जाने को लेकर सीएमइ ने सीमएचओ को नसीहत दी। गम्भीर कोरोना संक्रमित को ही मेडिकल रेफर करने करने के निर्देश दिए। बैठक में सुखसागर मेडिकल कॉलेज को कोविड डेडिटेकेट सेंटर बनाने को लेकर चर्चा हुई। इसके लिए मंगलवार को सुखसागर अस्पताल का अधिकारी निरीक्षण कर सकते है। बैठक में सम्भागायुक्तमहेशचंद्र चौधरी, कलेक्टर कर्मवीर शर्मा, डीन डॉ. पीके कसार, अस्पताल अधीक्षक डॉ. राजेश तिवारी, कोविड आइसोलेशन इंचार्ज डॉ. संजय भारती, सीएमएचओ रत्नेश कुररिया उपस्थित थे।

Show More
shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned