ऑटो में सवारी को ‘शिकार’ बनाता था छह लोगों का गिरोह

कोतवाली पुलिस की कार्रवाई : पूछताछ में चार और वारदातों का खुलासा, भेजा जेल

By: santosh singh

Published: 29 Mar 2019, 01:21 AM IST

जबलपुर. शहर में ऑटो में सफर करने वाले यात्रियों से रकम और मोबाइल चुराने वाले छह लोगों के गिरोह को कोतवाली पुलिस दबोचने में सफल रही। ऑटो चालक सहित गिरोह के दो लोगों की गिरफ्तारी के बाद चार अन्य आरोपियों का खुलासा हुआ। पुलिस ने सभी को हिरासत में लेकर पूछताछ की। आरोपियों ने तीन अन्य वारदातों में शामिल होना स्वीकार किया। पुलिस ने गुरुवार को सभी को जेल भेज दिया।
कोतवाली टीआइ आरके मालवीय ने बताया, 25 मार्च को जबेरा सिंग्रामपुर निवासी सतीष कुमार जैन की शिकायत पर ऑटो (एमपी 20 आर 9354) के चालक अधारताल कटरा निवासी गुलाम हुसैन और न्यू आनंद नगर निवासी आमीर खान को पकड़ा गया। सतीष जैन की बेटी सिविक सेंटर स्थित कॉलेज में पढ़ती है। उसकी फीस जमा करने वह 50 हजार रुपए लेकर आए थे। दीनदयाल बस स्टैंड से वे उक्त ऑटो से यादव कॉलोनी जा रहे थे। दमोहनाका-बल्देवबाग के बीच चालक ने उनकी जेब से रकम निकाल ली। सतीष ने कंट्रोल रूम के सीसीटीवी फुटेज में ऑटो की पहचान की थी। इसके बाद दोनों को पुलिस ने दबोचा था।
दो दिन की रिमांड में चार अन्य दबोचे गए
एसपी के निर्देश पर पुलिस ने दोनों को दो दिन की रिमांड पर लिया। पूछताछ में पुलिस ने चोरी की वारदातों में शामिल राजा बाबा की कुटी मोहरिया हनुमानताल निवासी सुल्तान, असलम, कस्सू उर्फ कसीमुद्दीन, नसीम उर्फ बिहारी को गिरफ्तार किया गया। चारों की उम्र 18 से 22 वर्ष के बीच है। उन्होंनें दीनदयाल, गोहलपुर और अधारताल क्षेत्र में ऑटो सवार यात्रियों के मोबाइल और पर्स चुराना स्वीकार किया।
किसान पर फायरिंग प्रकरण में फरार आरोपी गिरफ्तार, निरस्त होगा लाइसेंस
पाटन थानांतर्गत मडवा पिपरिया में जनवरी महीने में खेत जाते समय गांव के रास्ते में रोक कर लाठी-डंडे से पिटाई और फायरिंग करने के प्रकरण में फरार चार आरोपियों को पुलिस ने गुरुवार को दबोच लिया। टीआइ शिवराज सिंह ने बताया कि 24 जनवरी को रम्मू उर्फ राम सिंह लोधी को रंजिश में गांव के उजियार सिंह, सत्येंद्र, गज्जू व अरविंद ने मारपीट की थी। सत्येंद्र लोधी ने बदंूक से फायर किया था, जो रम्मू के दाहिने हाथ में लगी थी। उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बीच-बचाव में आरोपियों ने उसकी पत्नी व भाई के साथ भी मारपीट की थी। गुरुवार को मुखबिर से सूचना मिली कि चारों गांव आए हुए हैं। पुलिस ने दबिश देकर चारों को दबोच लिया। पुलिस ने घटना में प्रयुक्त लाइसेंसी बंदूक जब्त कर लाइसेंस निरस्त करने का पत्र जिला दण्डाधिकारी को लिखा है।
हत्या में फरार आरोपी पर आठ हजार का इनाम
नीमखेड़ा स्थित फॉरेस्ट ग्राउंड के पास निगरानी शुदा बदमाश सचिन विनोदिया की उसके ही दोस्तों मोंटू सोलंकी व जित्तू महोबिया ने तनाशा के साथ मिलकर 28 जनवरी को चाकू से मारकर हत्या कर दी थी। इस प्रकरण में जित्तू उर्फ जितेंद्र महोबिया अब तक फरार है। गुरुवार को एसपी निमिष अग्रवाल ने उसकी गिरफ्तारी पर आठ हजार का इनाम घोषित किया है।

 

 

santosh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned