मेडिकल के डॉक्टरों की बर्बरता, युवक को मार मारकर कर दिया अधमरा- देखें वीडियो

जबलपुर मेडिकल में जूनियर डॉक्टर्स व रेजीडेंट डॉक्टर्स ने मरीज के परिजन को बेरहमी से पीटा, निरीह मरीजों को धमका रहे -कहते हैं डॉक्टर औकात में रहना

By: Lalit kostha

Updated: 11 Aug 2017, 03:24 PM IST

Jabalpur, Madhya Pradesh, India

जबलपुर। संभाग के सबसे बड़े नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज अस्पताल में मरीज के परिजनों के साथ मारपीट करते हुए रेजीडेंट डॉक्टर व जूनियर डॉक्टर्स का वीडियो वायरल हुआ है। सोशल मीडिया में वायरल हो रहे इस वीडियो में मेडिकल कॉलेज के जूनियर डॉक्टर्स व कुछ रेजीडेंट डॉक्टर्स एक मरीज के परिजन को बुरी तरह से पीट रहे हैं। अभद्र गालियां दे रहे है और बाकी मरीजों के परिजनों को धमका रहे हैं कि यहां इलाज कराना है तो औकात में रहो।

READ MUST- आधी रात को धमाकों से दहला शहर, दस किमी तक सुनाई दिए धमाके- देखें लाइव वीडियो

इस वीडियो के वायरल होने के बाद से मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल प्रबंधन में हडकंप है। सोशल मीडिया में इस पर तीखी प्रतिक्रिया हो रही है। लोगों के द्वारा कमेंट किए जा रहे हैं कि यहां भी एक ऐसे जेल जैसे हालात है जहां पर जूनियर डॉक्टर्स की मनमानी चलती है और वे किसी भी तरह से कानून अपने हाथ में ले सकते हैं। मरीज के परिजन को इस तरह से पीटा कि बाकी लोग भी दहशत में आ गए।

jabalpur medical college latest news, gunda doctors at jabalpur medical college
patrika IMAGE CREDIT: patrika jabalpur

कानून हाथ में लेने पर सवाल-
परिजन को पीटने के दौरान जूनियर डॉक्टर बार-बार यह कह रहे हैं कि तेरे को हम पानी पिलाएंगे क्या। पिटता हुआ परिजन बार-बार यही कह रहा था कि मैने कोई अभद्रता नहीं की। मैं तो बार-बार सर ही कह रहा था। इसके बाद भी डॉक्टर समूह बनाकर मारपीट कर रहे थे।

20 नवम्बर वार्ड की घटना-
बताया जाता है कि यह घटना तीसरी मंजिल में 20 नंबर वार्ड की है। यहां पर मरीज का परिजन भर्ती है। मरीज ने डॉक्टर्स से पानी मांग लिया था जिस पर से डॉक्टरों ने उसे पीटना शुरू कर दिया। सूत्र बताते हैं कि सुबह वीडियो वायरल होने के बाद मरीज के परिजन को जूनियर डॉक्टर वार्ड में धमकाने भी पहुंच गए और बाकी मरीजों को भी धमका रहे हैं कि किसी भी तरह की शिकायत नहीं की जाए।

READ MUST- ट्रिपल आईटी के 38 छात्र अस्पताल में भर्ती, ये हुआ है उनके साथ- देखें वीडियो 

सुरक्षा व्यवस्थ पर सवाल-
इस दौरान अस्पताल में सुरक्षा कर्मी कहीं नजर नहीं आए। मेडिकल कॉलेज प्रबंधन सुरक्षा पर एक करोड़ रुपए से ज्यादा प्रतिवर्ष खर्च कर रहा है।

शराब के नशे में ड्यूटी करते पकड़ा जा चुका है एक सीएमओ-
जानकार बताते हैं कि मेडिकल कॉलेज अस्पताल में मरीजों व उनके परिजनों को प्रताडि़त करने का यह कोई नया मामला नहीं है। इस तरह की घटनाएं आए दिन होती है। चर्चा तो यहंा तक है कि परिजनों को पीटने के बाद डॉक्टर स्वयं ही पीडि़त बन जाते हैं।

व्यवहार पर सवाल-
सोशल मीडिया में यह भी चर्चा है कि समाज में डॉक्टरों को भगवान का दर्जा दिया जाता है पर इस वीडियो को देखकर लोग इन्हें हैवान बता रहे हैं। लोगों का यह भी कहना है कि अभी यह स्थिति है तो आगें क्या होगा।

हम संज्ञान ले रहे-
इस मामले में मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. नवनीत सक्सेना का कहना है कि संज्ञान लिया जा रहा है। यह गंभीर घटना है। जो भी दोषी जूनियर डॉक्टर हैं उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएग

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned