scriptjabalpur,Omicron variant,medical experts,Delta variant,Health | विशेषज्ञों ने चेताया इस माह के अंत में खतरा ज्यादा | Patrika News

विशेषज्ञों ने चेताया इस माह के अंत में खतरा ज्यादा

ओमिक्रॉन वेरियंट की डेल्टा वेरियंट से 4 से 5 गुना संक्रामक क्षमता को देखते हुए न केवल हेल्थ इन्फस्ट्रक्चर को तैयार करना होगा बल्कि होमआइसोलेशन में रहने वाले मरीजों की निगरानी एवं टेली कंसलटेशन के लिए ज्यादा संख्या में चिकित्सक एवं स्टाफ को तैनात करना होगी। यह सुझाव कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकरणों को ध्यान में रखकर चिकित्सा विशेषज्ञों ने दिए। उन्होंने जबलपुर में कोरोना की तीसरी लहर का पीक इस माह के अंतिम सप्ताह से फ रवरी के दूसरे सप्ताह तक आने की आशंका जताई।

जबलपुर

Updated: January 05, 2022 12:40:09 pm

जबलपुर. कलेक्टर कर्मवीर शर्मा की अध्यक्षता में मंगलवार शाम को हुई बैठक में चिकित्सकों का कहना था कि कोमारबिडिटी वाले मरीजों के लिए कोरोना का नया वैरियंट ज्यादा घातक हो सकता है। विशेषज्ञों की राय थी कि तीसरी लहर में जिस तेजी से कोरोना प्रकरणों की संख्या बढ़ेगी उसी के अनुरूप इसका पीक भी बनेगा। इसकी वजह हार्ट ह्मूनिटी भी हो सकती है। सोमवार को बड़ी संख्या में मिले कोरोना मरीज जबलपुर में कोरोना की तीसरी लहर की शुरूआत हो सकती है। विशेषज्ञ चिकित्सकों का कहना है कि कोरोना वायरस के नए वेरियेट ओमिक्रॉन की संक्रामकता को देखते हुए कोरोना की दूसरी लहर की अपेक्षा लगभग दोगुनी तैयारियां करनी होगी।
corona meeting
Experts warn the danger at the end of this month

हेल्थ इन्फ्रस्ट्रक्चर को मजबूत करना जरूरी
चिकित्सकों का कहना था कि नए वेरियंट से संक्रमित मरीजों में से एक प्रतिशत के आसपास ही अस्पतालों में भर्ती की संभावना है। फिर भी सतर्कता बरतनी और हेल्थ इन्फ्र ास्ट्रक्चर को मजबूत करना जरूरी है। क्योंकि एक ही दिन में दूसरी लहर के पीक के समय से कई गुना मरीज सामने आ सकते हैं। चिकित्सा विशेषज्ञों के मुताबिक कोरोना की तीसरी लहर तीन से पांच हफ्ते तक प्रभावी रह सकती है। डेल्टा वैरियेंट की तुलना में ओमिक्रॉन वैरियंट से पीडि़त कोरोना मरीज 5 से 7 दिन के भीतर पूरी तरह ठीक हो सकता है।

विशेषज्ञों ने चेताया इस माह के अंत में खतरा ज्यादायह रहे बैठक में शामिल बैठक में
डॉ. जीतेन्द्र जामदार, डॉ. तापस, डॉ जितेंद्र र्भागव, डॉण् ऋ षि डॉबर, डॉ शैलेन्द्र राजपूत, डॉ राजेश धीरावाणी, डॉ रीति सेठ, डॉ रत्नेश कुररिया, सीईओ रिजु बाफ ना, नगर निगम आयुक्त आशीष वशिष्ठ, अपर कलेक्टर राजेश बाथम, शेर सिंह मीणा, विमलेश सिंह, स्मार्ट सिटी की सीईओ निधी सिंह राजपूत, संयुक्त कलेक्टर नम: शिवाय अरजरिया तथा स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारी मौजूद थे।
इन बातों का ध्यान रखना जरुरी
- लक्षणों को जल्दी पहचानकर आइसोलेशन और उपचार किया जाना चाहिए।
- लोगों को मास्क लगाने की अपनी आदत का गंभीरतापूर्वक पालन करना होगा।
- भीड़ भरे कार्यक्रमों से दूर रहना भी संक्रमण से बचाव का बेहतर उपाय है।
- सर्दी, जुकाम, बुखार, सिरदर्द और सांस लेने में तकलीफ पर तत्काल परामर्श जरुरी।
- लोगों को पल्स ऑक्सीमीटर और थर्मामीटर भी रखने की सलाह विशेषज्ञों ने दी है।
- कोरोना कंट्रोल रूम में अतिरिक्त चिकित्सकों एवं अमले को तैनात किया जाए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.