पुलिस के हत्थे चढ़ा सेना का फर्जी कैप्टन, गोपनीय दस्तावेज देख अधिकारी हैरान

fake soldier indian army:दसवीं पास जालसाज, बना आर्मी कैम्टन, 15 युवकों से ठगी, जबलपुर में, फर्जी आर्मी कैप्टन गिरफ्तार, फर्जी दस्तावेज, सील, मुहर व ज्वाइनिंग लेटर जब्त

 

जबलपुर .मप्र के जबलपुर में नकली आईएएस के बाद अब नकली आर्मी कैप्टन का मामला सामने आया। 10वीं पास ये जालसाज कैप्टन के ड्रेस में ही गिरफ्तार हुआ। उसने शहर के 15 युवक-युवतियों को सेना में भर्ती कराने का सब्जबाग दिखाया था। वह पिछले दो महीने से बकायदा राइट टाउन में ले जाकर प्रशिक्षण भी देता था। यहां तक कि दो युवक-युवती को इंदौर भी आर्मी एरिया में ले गया था। उसने सभी से सेना में भर्ती कराने के एवज में 10-10 लाख मांगे थे। गोरखपुर की रामपुर पुलिस चौकी ने सोमवार को फर्जी आर्मी कैप्टन को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ धोखाधड़ी व फर्जीवाड़ा का मामला दर्ज कर लिया है।
किराए से पटेल मोहल्ला रामपुर में रह रहा था
गोरखपुर थाना प्रभारी उमेश तिवारी ने बताया कि पटेल मोहल्ला निवासी सचिन राजपूत ने शिकायत दर्ज करायी कि एक महीने से अभय रजक नाम का व्यक्ति पड़ोस में किराये से रह रहा है। वह खुद को आर्मी का कैप्टन बताता है और आर्मी की काम्बेड व ग्रीन ड्रेस, कंधे पर जैक रायफल लिखा हुआ डे्रस पहन कर आता-जाता था। मोहल्ले के युवक-युवतियों से कहा कि वह आर्मी में भर्ती के लिए ट्रेनिंग भी देता है और भर्ती भी करवाता है।
राइट टाउन स्टेडियम में कराता था दौड़ की प्रैक्टिस
उसने बताया कि वह सुबह-शाम राईट टाउन स्टेडियम में दौड़ की प्रैक्टिस करवाता है। उससे प्रभावित होकर वह और 15 युवक-युवतियां पहुंचे। उसने कहा कि ट्रेनिंग के लिए पैसा लगेगा। इसके बाद उसने सभी से पैसे लिए और महीने भर तक राइट टाउन स्टेडियम में प्रैक्टिस करवाई।
जाली एडमिट कार्ड भी दिया
आर्मी में भर्ती कराने के लिये शोभना नाम की युवती और उसके भाई शुभम पटेल को जाली एडमिट कार्ड दिया और अपने साथ महू जिला इंदौर भर्ती के लिए ले गया। महू में आर्मी एरिया में इधर-उधर घुमा कर वापस ले आया और कहा कि भर्ती की बात हो गई है। 10-10 लाख रुपए लगेंगे और जबलपुर में ही भर्ती करवा देगा। हालांकि अब तक किसी की भर्ती नहीं करवाया। सभी से उसने कुल 1.55 लाख रुपए ठगे हैं।
इन लोगों से ठगी-
सचिन राजपूत से 10 हजार, आशा ठाकुर से छह हजार, अर्चना ठाकुर से छह हजार, अश्विनी पटेल से तीन हजार, आयुषी अग्रवाल से ढाई हजार, आरती कोल से ढाई हजार, मुस्कान रजक से तीन हजार, शोभना पटेल से 30 हजार, सेजल पटेल से पांच हजार, राकेश मेहरा से सात हजार, आदर्श यादव से चार हजार, शुभम पटेल से 30 हजार, बंटी राजपूत से 20 हजार, सत्यम सेन से 22 हजार, सोहेल पटेल से सात हजार रुपए लिए हैं।
शहपुरा भिटौनी का 10वीं पास है जालसाज
रामपुर चौकी प्रभारी के मुताबिक अभय रजक का असल नाम सोनू रजक (30) है। वह नोनी शहपुरा भिटोनी का रहने वाला है। उसके रामपुर छापर में लिए गए किराये के मकान से जैक राईफल की फर्जी आईडी, दो एडमिट कार्ड और यूनिफार्म जब्त किए गए। सोनू 10वीं पास है और खुद आर्मी में भर्ती की कोशिश कर चुका है। साढ़े पांच फीट लम्बाई होने की वजह से वह भर्ती प्रक्रिया में शामिल नहीं हो पाया।

Show More
santosh singh
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned