जबलपुर का आदर्श मतगणना केन्द्र बनेगा देश में मॉडल

जबलपुर का आदर्श मतगणना केन्द्र बनेगा देश में मॉडल
Ideal counting centers are being set up at MLB School for counting of votes for Lok Sabha elections on May 23

Gyani Prasad | Publish: May, 12 2019 12:37:08 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

निर्वाचन आयोग की टीम ने सराहा था मतगणना तैयारियों को

जबलपुर. लोकसभा चुनाव के लिए 23 मई को होने वाली मतगणना के लिए एमएलबी स्कूल में आदर्श मतगणना केन्द्र की स्थापना की जा रही है। शनिवार को इस केन्द्र के लिए बी कैटेगरी के स्ट्रांगरूम से रिजर्व में रखी ईवीएम और वीवीपेट को निकालकर रखा गया। इस केन्द्र में किस तरह की सुविधाएं होंगी और मतगणना कैसे की जाएगी, इसका वीडियो भारत निर्वाचन आयोग को भेजा जाएगा। इस वीडियो को मतगणना संबंधी कार्य के लिए उदाहरण के तौर पर पेश किया जाएगा।

9 मई को भारत निर्वाचन आयोग के उप निर्वाचन आयुक्त सुदीप जैन और प्रदेश के मुख्य चुनाव पदाधिकारी वीएल कांताराव ने जबलपुर आकर मतगणना कार्य और स्ट्रांगरूम के प्रोटोकॉल संबंधी नियमों की समीक्षा की थी। अधिकारी स्ट्रांगरूम और मतगणना स्थल भी पहुंचे। यहां की व्यवस्थाओं की उन्होंने सराहना की थी। उसी दौरान एक आदर्श मतगणना केन्द्र बनाकर उसकी फोटो एवं वीडियों निर्वाचन आयोग को भेजने के लिए कहा गया था। इस केन्द्र पर मतगणना की मॉकड्रिल की जाएगी। उप जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ सलोनी सिडाना ने बताया कि आदर्श मतगणना केन्द्र तैयार किया जा रहा है। इसमें मतगणना की मॉकड्रिल की जाएगी। इसका वीडियो और फोटो भारत निर्वाचन आयेाग को भेजे जाएंगे।

रेंडम आधार पर दो ईवीएम मतों की गणना
भारत निर्वाचन आयोग ने मतगणना की विशुद्धता सुनिश्चित करने के लिए लोकसभा चुनाव में विधानसभा क्षेत्रवार की जाने वाली मतों की गणना के प्रत्येक चक्र के अंत में दो मतदान केन्द्रों की ईवीएम मशीनों का रेंडम आधार पर चयन करने तथा गिनती की पुन: जांच करने के निर्देश दिये हैं। निर्वाचन आयोग के मुताबिक मतगणना की विशुद्धता की जांच के लिए रेंडम आधार पर दो ईवीएम का चयन कर दोबारा गिनती करने की यह कार्यवाही आयोग द्वारा नियुक्त प्रेक्षकों द्वारा सम्पन्न कराई जायेगी।

मोबाइल ले जाने की अनुमति नहीं होगी
लोकसभा चुनाव की मतगणना में जितनी मतगणना टेबल होगी उतने ही मतगणना एजेन्ट उम्मीदवार द्वारा नियुक्त किए जा सकेंगे। उम्मीदवारों को रिटर्निंग ऑफिसर अथवा सहायक रिटर्निंग अधिकारी की टेबल पर मतगणना के अवलोकन के लिए भी एक काउंटिंग एजेंट की नियुक्ति की अनुमति होगी। उसेमतगणना स्थल पर मोबाइल फोन ले जाने की अनुमति नहीं होगी। इस तरह किसी भी उम्मीदवार द्वारा सामान्यत: अधिकतम 15 काउंटिंग एजेंट की नियुक्ति की जा सकेगी। इसके अलावा उम्मीदवार उस स्थान पर भी अपना गणना अभिकत्र्ता नियुक्त कर सकेगा जहां डाकमत पत्रों की गिनती की जायेगी।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned