आरजीपीवी हैकथान में जबलपुर के छात्रों ने मारी बाजी

आरजीपीवी हैकथान ग्रैंड फिनाले में आए अव्वल, कई कॉलेजों को पछाड़ा

By: Mayank Kumar Sahu

Published: 08 Oct 2021, 04:27 PM IST

जबलपुर।
तकनीकी छात्रों की प्रतिभाओं को परखने के लिए राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय द्वारा है हैकथान -2021 का आयोजन किया गया। इस हैकथान में प्रदेशभर से तकनीकी शिक्षा संस्थानों के सैकड़ों छात्रों ने सहभागिता की । कई दौर में चले इस कॉम्पटीशन में जबलपुर की टीम प्रदेश स्तर पर पहले नंबर पर आई।जबलपुर के छात्रों ने प्रदेश के कई जिलों के छात्रों को पछाड़ते हुए ग्रैंड फिनाले तक पहुंचे और ग्रेंड फिनाले में पहला स्थान कायम करने में सफल रहे। कन्वीनर डॉक्टर पंकज गोयल कहते हैं कि छात्रों को स्मार्ट कम्युनिकेशन हेल्थ केयर एंड बायो मेडिकल डिवाइसेज, एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट, स्मार्ट व्हीकल, फूड टेक्नोलॉजी, रोबोटिक एंड ड्रोन, क्लीन वाटर सिक्योरिटी सर्विलेंस जैसी थीम आधारित प्रोजेक्ट दिए गए थे जिनपर उन्हें खरा उतरना था। यह तकनीकी रूप से बेहद चुनोती भरा टास्क होता है
स्टेट लेवल पर टॉप तीन छात्र
जबलपुर जोन से प्रखर मणि त्रिपाठी ज्ञान गंगा इंस्टिट्यूट आप टेक्नोलॉजी को ग्रैंड फिनाले में पहले स्थान प्राप्त हुआ। दूसरे स्थान पर भोपाल जोन से मिताली, गांधी इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलॉजी रही जबकि तीसरे स्थान पर ग्वालियर जोन से श्याम सिन्हा रहे । राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय द्वारा प्रथम विजेता को 50,000 दित्तीय विजेता को 30,000 एवं तीसरे पायदान पर रहने वाले विजेता को 20,000 की राशि प्रदान की गई ।
इस तरह पहुंचे मुकाम पर
हैकथान में कई तकनीकी शिक्षा संस्थानों के छात्र छात्राओं ने से हिस्सेदारी की थी विभिन्न दौर में प्रतियोगिताएं हुईं उन्हें तकनीकी रूप से प्रोजेक्ट बनाने के लिए दिए गए। एक जगह एक स्थान पर रहते हुए छात्रों ने अपने तकनीकी कौशल का परिचय देते हुए तकनीकी आधारित प्रोजेक्ट, सॉफ्टवेयर का निर्माण किया। कई नामी-गिरामी कॉलेजों को पीछे छोड़ा और ग्रैंड फिनाले में अपनी जगह बनाई। इस प्रतियोगिता में करीब 400 से अधिक छात्र-छात्राओं द्वारा सहभागिता की गई थी।

 

Mayank Kumar Sahu Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned