जबलपुर रेल मंडल को मिलेंगे 50 नए अस्टिेंट लोको पॉयलट

नए अस्टिेट लोको पायलट की हुई ट्रेनिंग, डब्ल्यूसीआरईयू में बताए गए उनके उत्तरदायित्व

By: Mayank Kumar Sahu

Published: 12 Nov 2020, 11:26 PM IST

जबलपुर।

लंबे अरसे बाद जबलपुर रेल मंडल को 50 नए असिस्टेंट लोको पायलट (एएलपी) मिलने जा रहे हैं। रिक्रूटमेंट होकर आए नए लोको पायलट की ट्रेनिंग पूरी होने के बाद इन्हें जबलपुर रेल मंडल में शामिल किया जा रहा है। यह लोको पायलट आज वेस्ट वेस्ट सेंट्रल रेलवे एंप्लाइज यूनियन के कार्यालय में पहुंचे। इन सभी को मंडल अध्यक्ष बीएन शुक्ला एवं मंडल सचिव नवीन लिटोरिया ने रेलवे की कार्यप्रणाली, गतिविधियों, यूनियन के दायित्वों और उसके कामकाज आदि की जानकारी से अवगत कराया। नए लोको पायलट को बताया गया कि किस तरह विपरीत परिस्थितियों में कार्य करना पड़ता है। ट्रेनों के संचालन के साथ ही हमें पंच्यूलिटी पर ध्यान देना होता है। मंडल अध्यक्ष शुक्ला ने कहा कि हर्ष की बात है कि लोको पायलट के लिए वेस्ट सेंट्रल रेलेव एम्पलाइज यूनियन लड़ाई लड़ रही थी। लोको पायलट मिलने से काम का भार भी कम होगा साथ ही रेल परिचालन में भी और आसानी होगी। मंडल सचिव लिटोरिया ने कहा कि अगले दो तीन दिनों के अंदर इन सभी असिस्टेंट लोको पायलट को जबलपुर मंडल में पद स्थापित कर दिया जाएगा। आज इन सभी लोकोपायलट को यूनियन कार्यालय में बैठक कर जानकारी दी गई वहीं उनके कार्यों यूनियन की महत्ता आदि उत्तरदायित्व को बताया गया।
बताया जाता है रेलवे भर्ती बोर्ड द्वारा एएलपी के लिए परीक्षा आयोजित की गई थी जिसमें लोको पायलट का चयन किया गया था। इन्ह सभी को लंबी ट्रेनिंग दी गई। इसके बाद अब मैदान में उतारा जा रहा है। लाल झंडे के नीचे आने से संगठन की ताकत भी मजबूत हुई है।

Mayank Kumar Sahu Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned