scriptJabalpur will become a metropolis city with 3000 crore rupees | 3 हजार करोड़ रुपए से जबलपुर बनेगा महानगर, ये हो रही तैयारी | Patrika News

3 हजार करोड़ रुपए से जबलपुर बनेगा महानगर, ये हो रही तैयारी

3 हजार करोड़ रुपए से जबलपुर बनेगा महानगर, ये हो रही तैयारी

जबलपुर

Updated: June 22, 2022 10:51:08 am

प्रभाकर मिश्रा@जबलपुर। तीन हजार करोड़ के भारतमाला प्रोजेक्ट से जबलपुर महानगर की तस्वीर बदल जाएगी। बहुप्रतीक्षित ग्रेटर रिंग रोड के निर्माण की शुरुआत बरसात बाद मानेगांव-बरेला के बीच होगी। इस महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट से जबलपुर से गुजरने वाले चार नेशनल हाइवे को जोडऩे के लिए ग्रेटर रिंग रोड 82 गांवों से होकर गुजरेगी। इससे जबलपुर महानगर का मौजूदा आकार तीन गुना तक बढ़ जाएगा। इससे नई सम्भावनाएं बढ़ेंगी। लोगों के जीवन स्तर में भी बदलाव की उम्मीदें बनेंगी।

jabalpur.jpg
metropolis city

ग्रेटर रिंग रोड : तीन हजार करोड़ के भारतमाला प्रोजेक्ट से बदलेगी जबलपुर की तस्वीर
चार हाइवे और 82 गांवों के जोड़ से महानगर लेगा आकार

महाकोशल के लिए गेमचेंजर माने जा रहे इस प्रोजेक्ट का डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) अंतिम दौर में है। सूत्रों की मानें तो अगस्त-सितम्बर के महीने में रिंग रोड की डीपीआर तैयार हो जाएगी। ङ्क्षरग रोड का निर्माण पांच चरण में होगा। जानकारों के अनुसार प्रोजेक्ट के तहत गोलाकार आकार के इस रिंग रोड से महानगर का हर कोना जुड़ जाएगा। इसलिए इसे पांच चरणों में पूरा करने का लक्ष्य है। निर्माण एजेंसी एनएचएआई की तकनीकी टीम के अनुसार पहले चरण में 16 किमी में सडक़ निर्माण के लिए बरसात के बाद टेंडर की प्रक्रिया की जाएगी।

jabalpur1.jpg

यह होगा फायदा
ग्रेटर रिंग रोड का सबसे अधिक फायदा एक हाइवे से दूसरे हाइवे को चेंज करने वाले लोगों के लिए होगा। उन्हें इसके लिए शहर के भीतर भीड़ भाड़ इलाकों से गुजरने की जरूरत नहीं होगी। शहर में भी अनावश्यक दबाव घटेगा।
महानगर के विस्तार के भी अवसर बढ़ेगे। खास इलाकों में बढ़ते घनत्व व जाम की स्थिति से बचाने के लिए सरकार और प्रशासन के पास विस्तार देने के लिए ज्यादा विकल्प होंगे। इससे शहर की तस्वरी में बड़ा बदलाव आएगा।

रिंग रोड का पहले चरण में मानेगांव से बरेला के बीच निर्माण कार्य किया जाएगा। चार लेन सडक़ निर्माण के लिए सडक़ परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय की ओर से पूर्व में अधिसूचना जारी की जा चुकी है। प्रोजेक्ट की फाइनल डीपीआर तैयार की जा रही है।
- सुमेष बांझल, प्रोजेक्ट प्रभारी, एनएचएआई

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: बीजेपी ऐसे भिखारियों का हाथ पकड़कर खुद को बता रही महाशक्ति.. ‘सामना’ के जरिए फिर शिवसेना ने कसा तंजAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा हैकेरल में राहुल गांधी के दफ्तर पर हुए हमले के बाद बड़ी कार्रवाई, DSP निलंबित, ADGP करेंगे मामले की जांच25 जून 1983, 39 साल पहले भारत ने रचा था इतिहास, लॉर्ड्स में वर्ल्ड कप जीतकर लहराया तिरंगाकौन हैं तपन कुमार डेका, जिन्हें मिली इंटेलिजेंस ब्यूरो की कमानपाकिस्तान की खुली पोल, 26/11 मुंबई हमले का मास्टर माइंड साजिद मीर जिंदा, ISI ने मोस्ट वांटेड आतंकी को बताया था मराMumbai News Live Updates: शिवसेना के बागी विधायकों और उनके परिवारों की सुरक्षा के लिए महाराष्ट सरकार जिम्मेदार: एकनाथ शिंदेMaharashtra Political Crisis: एक्शन में शिवसेना! अयोग्य करार देने के लिए डिप्टी स्पीकर को भेजा 4 और MLA के नाम, 16 बागियों पर भी कार्रवाई की तैयारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.