Jabalpur youth मलेशिया में गिरफ्तार

arrested in Malaysia:निजी शिपिंग कम्पनी में कार्यरत जबलपुर निवासी युवक को मलेशिया पुलिस ने बिना वीजा के गिरफ्तार किया है। निजी शिपिंग कम्पनी में सी-मैन है युवक, मलेशिया के मिरी शहर की पुलिस ने बिना वीजा के घूमते हुए पकड़ा, परिजन की गुहार पर एसपी ने दूतावास को पत्र भेजकर मांगी मदद जबलपुर .

जबलपुर . निजी शिपिंग कम्पनी में कार्यरत जबलपुर निवासी युवक को मलेशिया पुलिस ने बिना वीजा के गिरफ्तार किया है। परिजन की तीन महीने पहले युवक से बात हुई थी, तब वह मलेशिया के मिरी शहर में था। वहीं पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। 13 नवम्बर को मलेशिया पुलिस ने उसकी घरवालों से बात करायी, तब उनको गिरफ्तारी की जानकारी लगी। तब से परिजन उसे वापस लाने के लिए अधिकारियों के कार्यालयों का चक्कर लगा रहे हैं। शुक्रवार को परिजनों की गुहार पर एसपी ने पासपोर्ट शाखा के माध्यम से दूतावास से मदद मांगी है।
11 अगस्त को शिप के साथ गया था मलेशिया
जानकारी के अनुसार रानीताल सर्वोदय नगर निवासी नरसिंह मूर्ति ने बताया कि चचेरा भाई मनमद किरण निजी शिपिंग कम्पनी में सी-मैन है। जबलपुर से नौ अगस्त 2019 को पैतृक गांव राजारामपुरम जिला श्रीकाकुलम गया था। वहां से भुवनेश्वर चला गया। भुवनेश्वर से 11 अगस्त को शिप में काम करने के लिए मलेशिया गया था। 12 अगस्त को क्वालालम्पुर पहुंचा। वहां से मिरी शहर पहुंचा था, तब उसकी बात हुई थी।

visa.jpg
IMAGE CREDIT: patrika

मुम्बई के एजेंट के माध्यम से मलेशिया में मिला था काम
किरण डिबामा ट्रांसपोर्टटेशन सर्विसेस कम्पनी में सी-मैन के पद पर काम करता है। तीन महीने बाद 13 नवम्बर को मलेशिया के मिरी शहर के पुलिस स्टेशन से भाई का कॉल आया और बताया कि यहां की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।किरण को मुम्बई के एजेंट अखिलेश ने मलेशिया के एजेंट विल्सन से परिचय कराया था। विल्सन मिरी शहर में रहता है। वहीं किरण को मलेशिया लेकर गया था।
इस कारण हुआ गिरफ्तार
नियम के अनुसार शिप में काम करने वाले दूसरे देश के कर्मचारी अपने शिप के साथ सिर्फ बंदरगाह तक आ-जा सकते हैं। उन्हें शहर के अंदर जाने के लिए अनुमति लेनी पड़ती है। किरण ने न तो अनुमति ली और न ही उसे इस नियम की जानकारी थी।
विदेश मंत्रालय से मांगी मदद
किरण का चेचरा भाई नरसिंह मूर्ति नगर निगम में सफाई सुपरवाईजर है। उसने बताया कि भाई को मलेशिया पुलिस की गिरफ्त से छुड़ाने के लिए उसने विदेश मंत्रालय को इस सम्बंध में पूरी जानकारी देते हुए मदद मांगी है। एएसपी राजेश त्रिपाठी ने बताया कि पासपोर्ट शाखा के माध्यम से किरण के सभी दस्तावेजों और शिकायत पत्र को दूतावास को फैक्स के माध्यम से भेज दिया गया है।

 

Show More
santosh singh Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned