मेडिकल अस्पताल में जूनियर डॉक्टर ने युवक को पीटा, मरीज की मां और पिता को बनाया बंधक

मेडिकल अस्पताल में जूनियर डॉक्टर ने युवक को पीटा, मरीज की मां और पिता को बनाया बंधक
medical college,hostage appeals for help,hostage,junior doctors ,mortgage,junior doctor,Junior Doctors Association news,medical college jabalpur,

Abhishek Dixit | Publish: May, 21 2019 08:15:15 AM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

जूडॉ का आरोप मरीज के परिजन ने पहले मारपीट की

जबलपुर. नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज अस्पताल में इलाज के लिए आई एक महिला व उसके पुत्र को जूनियर डॉक्टर के दवा नहीं लिखने की शिकायत करना भारी पड़ गया। युवक ने ओपीडी बंद होने से पहले पर्ची पर दवा लिखने की मांग की थी। इस पर जूनियर डॉक्टर्स ने उसे दुत्कार दिया। युवक ने विरोध किया तो मारपीट की। बाद में सुरक्षाकर्मियों ने युवक की मरीज मां व उसके पिता को तीन घंटे तक कैज्युअल्टी में बंधक बनाए रखा। जूनियर डॉक्टर्स का आरोप है कि मारपीट के दौरान मरीज के परिजन ने उसे दांत से काटा।

यह है मामला
आर्थोपेडिक ओपीडी में सिवनी से राकेश चौबे अपनी मां को इलाज के लिए लाया था। जल्द दवा लिखने की मांग पर विवाद हुआ। जूडा ने आरोप लगाया कि मरीज का परिजन उसे दांत से काटकर भाग गया। घटना के बाद उसकी मरीज मां व पिता को दोपहर दो बजे से शाम पांच बजे तक आकस्मिक चिकित्सा कक्ष में बैठाकर रखा गया। बाद में सुरक्षा कर्मी युवक को पकड़कर लाए। इसके बाद सीएमओ डॉ. सतीश अहिरवार ने मरीज महिला व उसके पति व पुत्र को गढ़ा थाने पहुंचाया। उधर इस मामले में कैज्युअल्टी से अधीक्षक कार्यालय शाम तक जानकारी नहीं दी गई थी।

दोनों पक्ष थाने पहुंचे
घटना के बाद जूनियर डॉक्टर्स व मरीज का परिजन राकेश चौबे थाने पहुंचे। पुलिस ने जूनियर डॉक्टर्स की शिकायत पर मरीज के परिजन राकेश चौबे के खिलाफ मारपीट का प्रकरण दर्ज किया। वहीं दहशत में बैठे राकेश चौबे व उनके परिजनों ने शाम तक जूनियर डॉक्टरों के खिलाफ शिकायत नहीं दी है। पुलिस का कहना है कि इस घटना के मेडिकल कॉलेज से सीसीटीवी फुटेज मांगे गए हैं। पीडि़त पक्ष को शिकायत देने कहा है।

आए दिन हो रही घटनाएं
मेडिकल कॉलेज में बीते एक सप्ताह के दौरान यह तीसरा मामला सामने आया है। जिसमें मरीज व उनके परिजन और जूनियर डॉक्टरों ने एक दूसरे पर मारपीट के आरोप लगाए हैं। इससे पहले रविवार को एक मरीज के परिजन ने जूडॉ के निर्देश पर सुरक्षा कर्मियों द्वारा बाथरूम में बंदर करके मारने का आरोप लगाया था। इससे पहले सर्जरी वार्ड नम्बर 13 में परिजन और जूनियर डॉक्टरों के बीच मारपीट का मामला सामने आ चुका है।

अस्पताल की ओपीडी में विवाद की जानकारी मुझे दोपहर बाद मिली थी। घटना की सीएमओ से विस्तृत जानकारी मांगी गई है। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।
डॉ. राजेश तिवारी, अधीक्षक मेडिकल कॉलेज अस्पताल

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned