फोन पर ही पूछते रहे हाल, उधर कोरोना महिला की जिंदगी निगल गया

जबलपुर निवासी महिला की कोरोना से मौत के मामले में दो डॉक्टरों को शोकॉज नोटिस जारी

 

By: shyam bihari

Updated: 22 Jun 2020, 08:52 PM IST

जबलपुर। 55 वर्षीय महिला की कोरोना से मौत के बाद जबलपुर में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही उजागर हुई है। महिला को ब्लड प्रेशर डायबिटीज और थायराइड की समस्या थी। उसका नागपुर में उपचार चल रहा था। लॉकडाउन की वजह से महिला फॉलोअप के लिए नागपुर नहीं जा पाई थी। इस बीच कुछ समस्या महसूस होने पर महिला संजय नगर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में जांच के लिए गई थी। बीमारियों को चलते महिला को 16 जून को हाई रिस्क में चिन्हित किया गया था। लेकिन, उसके बाद सम्बंधित क्षेत्र की स्वास्थ्य विभाग की मोबाइल यूनिट संक्रमित की स्वास्थ्य की जांच के लिए कभी घर नहीं गई। जिम्मेदारों की यह लापरवाही तब उजागर हुई, जब महिला की कोरोना से मौत के बाद स्वास्थ्य व्यवस्थाओं का जायजा लेने के लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. रत्नेश कुररिया टीम के साथ संजय नगर पहुंचे। टीम ने पीएचसी से लेकर मृत महिला के घर तक लोगों से मुलाकात कर स्वास्थ्य व्यवस्था का फीडबैक लिया। लापरवाही मिलने पर संजय नगर पीएचसी के प्रभारी डॉ. पीसी तिवारी और मेडिकल मोबाइल यूनिट की प्रभारी डॉ. वैशाली भगत को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। कलेक्टर भरत यादव ने मामले में सर्वे दल के सदस्यों पर भी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए शहर का सर्वे कराया है। इसमें सर्दी-खांसी, बुखार सहित 60 वर्ष से ज्यादा उम्र वाले और डायबिटीज, ब्लड प्रेशर सहित अन्य रोगों से पीडि़त लोगों को चिन्हित करके हाई रिस्क पेशेंट की सूची तैयारी की है। सम्बंधित क्षेत्र में स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टरों की हाई रिस्क पेशेंट की जांच की जिम्मेदारी की गई है। इन डॉक्टर को सप्ताह में दो बार जाकर हाई रिस्क मरीज का स्वास्थ्य परीक्षण करने के निर्देश है। सूत्रों के अनुसार संजय नगर निवासी महिला के मामले में मोबाइल यूनिट के डॉक्टर फोन करके ही परिजनों से महिला के स्वास्थ्य की जानकारी लेते रहे। सर्वे के बाद एक महीने से ज्यादा समय होने पर भी महिला के घर जाकर कभी जांच नहीं की। 19 की शाम को महिला की अचानक तबीयत बिगड़ी। परिजन उसे नजदीकी संजीवनी अस्पताल लेकर गए। गम्भीर हालत होने पर देर रात को मेडिकल अस्पताल रेफर किया गया। अगले दिन उपचार के दौरान महिला की मौत हो गई। बाद में वह कोरोना पििॉजटिव मिली।

Show More
shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned