खटुआ हत्याकांड : हाईकोर्ट ने एसपी को दिया जांच रिपोर्ट पेश करने का आखिरी मौका

मध्यप्रदेश हाईकोर्ट ने दिया दो सप्ताह का समय, अगली सुनवाई 17 दिसंबर को

By: abhishek dixit

Published: 03 Dec 2019, 09:00 PM IST

जबलपुर. जीसीएफ के जूनियर वक्र्स मैनेजर (जेडब्ल्यूएम) एससी खटुआ की हत्या के नौ माह बाद भी आरोपियों के पुलिस की गिरफ्त से दूर रहने पर हाईकोर्ट ने जांच पर असंतोष जताया। जस्टिस विजय कुमार शुक्ला की सिंगल बेंच ने जबलपुर एसपी को कहा कि जांच पूरी कर रिपोर्ट पेश करने के लिए उन्हें दो सप्ताह का आखिरी अवसर दिया जा रहा है। अगली सुनवाई 17 दिसंबर नियत की गई।

धनुष तोप मामले में नोटिस मिलने के बाद लापता
जीसीएफ कॉलोनी निवासी एससी खटुआ की पत्नी मौसमी खटुआ ने याचिका दायर कर कहा कि उसके पति एससी खटुआ जीसीएफ में जेडब्ल्यूएम थे। सीबीआई ने उन्हें धनुष तोप के मामले में पूछताछ के लिए नोटिस जारी किया। इसके बाद अचानक 17 जनवरी 2019 को वे लापता हो गए। 5 फरवरी 2019 को उनके पति की लाश जीसीएफ के पंप हाउस के पास मिली। घमापुर पुलिस ने इस मामले में हत्या का प्रकरण दर्ज किया। लेकिन वारदात के 8 महीने बाद भी पुलिस के हाथ हत्या के आरोपियो तक नहीं पहुंच पाए। 4 नवंबर को जबलपुर एसपी अमित सिंह ने कोर्ट में हाजिर होकर बताया कि मामले की जांच जारी है। आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास हो रहे हैं। इसके लिए एसआईटी का गठन किया गया है। आरोपियों पर इनाम भी घोषित किया गया है। मंगलवार को फिर सरकार की ओर से बताया गया कि जांच अभी पूरी नहीं हुई। इस पर कोर्ट ने दो सप्ताह की अंतिम मोहलत दे दी।

abhishek dixit
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned