किनोवा प्रदेश में बनेगा नया सुपर फूड सप्लीमेंट

किनोवा प्रदेश में बनेगा नया सुपर फूड सप्लीमेंट
Kinova will state the new super food supplement

Mayank Kumar Sahu | Updated: 11 Oct 2019, 12:07:15 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

जल्द प्रदेश के बाजार में छाने की तैयारी, कृषि विवि ने उन्नत की प्रजाति, फिलहाल आदिवासी बेल्ट में किया जा रहा था प्रायोगिक ट्रायल, कई रोगों की दवा के लिए कारगार, अनाज का नया सब्सीटयूट

फैक्ट फाइल
-1 पौधे में 800ग्राम से 1 किलोग्राम तक दाने
-20 अक्टूबर से 15 नवंबर तक बोनी
-100 दिनों में फसल बनकर तैयार
-1000 रुपए प्रति किलो तक अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कीमत
-5 से 9 टन तक प्रति बीघा में उत्पादन

100 ग्राम दाने में पौष्टिकता
-14 से 18 ग्राम प्रोटीन
-7 ग्राम कार्बोहाड्रेट
-2 ग्राम वसा
-11 ग्राम रेशा

यहां चल रहा ट्रायल
-मंडला, बालाघाट, डिंडोरी, सिवनी, उमरिया, छिंदवाड़ा

यह है मिनरलस के स्त्रोत
किनोवा में 9 एमिनो एसिड मिलकर प्रोटीन की संरचना। इसमे खनिज तत्वों में पोटेशियम, आयरन, कैल्शियम, मैगनीशियम, जिंक, मैंगनीज की प्रचुर मात्रा पाई जाती है। इसके अलावा विटामिन ए, बी, सी भी उपलब्ध है।

यह है खासियत
-बथुआ प्रजाति का मेम्बर
-चिनोपोडियम बॉटनिकल नेम
-पानी की जरूरत नहीं, एक पानी से काम
-कठोर भूमि पर भी आसानी से फसल
-रोग प्रतिरोधक क्षमता अन्य फसलों से ज्यादा
-दक्षिण आफ्रीका, इंग्लैड, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, चाइना, बोलविया, पेरू में खेती

जबलपुर .
प्रदेश के किसानों के लिए अनाज की नई प्रजाति ‘किनोवा’ वरदान साबित हो सकती है। फूड सप्लीमेंट के रूप में किनोवा को बाजार में उतारने की तैयारी की जा रही है। जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय की ओर से प्रदेश की जलवायु और भौगोलिक स्थिति को देखते हुए उन्नत की गई इस प्रजाति का ट्रायल सफल रहा है। अभी इस फसल का आदिवासी बेल्ट बालाघाट, मंडला, डिंडौरी में प्रायोगिक तौर उत्पादन किया जा रहा था।

प्रदेश में 11 लाख हेक्टेयर जमीन के लिए वरदान
प्रदेश में 11 लाख हेक्टेयर एरिया ऐसा है जहां एक रबि सीजन के बाद किसान दूसरी फसल नहीं ले पाता है। जिसकी वजह आवश्यक नमी नहीं मिलती। ऐसे में यह 11 लाख हेक्टेयर भूमि किनोवा के रूप में जमीन के लिए दोबारा बरदान साबित हो सकेगी जिससे किसानों की आय में भी इजाफा होगा।

सुपर फूड केरूप में दी गई संज्ञा
अंतर्राष्ट्रीय संस्था वल्र्ड फूड आर्गेनाइजेशन ने किनोवा को सुपर फूड की संज्ञा दी है। क्योंकि यह एकमात्र ऐसा फूड है जिसमें रिच न्यूट्रीशन, प्रोटीन मौजूद है जो कि मानव की कई बीमारियों से लडऩे में सक्षम पाया गया है। इसलिए इस फूड को तेजी से विस्तार किया जा रहा है। इसके अलावा यह डायबिटी, हार्ट, बीपी जैसे कई रोगों से लडऩे के लिए अचूक दवा भी मानी जा रही है।

जांच में नहीं मिला कोई रोग
बताया जाता है किनोवा के पौधे में कीटों और रोगों से लडऩे की ज्यादा क्षमता मिली है। साथ ही पाले और सूखे की स्थिति में भी यह फसल अपने आपको ज्यादा बेहतर रखने में सक्षम पाई गई है। छह माह से चल रहे प्रायोगिक तौर पर कृषि विश्वविद्यालय के पास फिलहाल इस पर किसी भी तरह की रोग की जानकारी सामने नहीं आई है।

- किनोवा की नई फसल को प्रदेश के मौसम के हिसाब से तैयार किया गया है। आदिवासी क्षेत्र में प्रायोगिक ट्रायल कर रहे थे जो कि सफल रहा है। अब इसे हम विस्तृत रूप से किसानों के बीच उतारने जा रहे हैं। किनोवा अनाज बेहतरीन न्यूट्रीशनल रिच फूड है।
-डॉ.जीके कौतू, अनुसंधानकर्ता, कृषि विवि

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned