दुल्हन की तरह सजे चर्च, हर तरफ क्रिसमस के रंग

दुल्हन की तरह सजे चर्च, हर तरफ क्रिसमस के रंग
Latest Story of Christmas Festival in Jabalpur

Deepankar Roy | Publish: Dec, 24 2017 07:32:41 PM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

गिरिजाघरों में शुरु हुआ प्रार्थनाओं का दौर, धूमधाम से मनाया जा रहा क्रिसमस पर्व

जबलपुर। प्रभु यीशु के जन्म का विशेष पर्व क्रिसमस कल मंगलवार को है। क्रिसमसम को लेकर हर तरफ तैयारियों का दौर है। चर्चों में खास चहल-पहल नजर आ रही है। प्रार्थनाओं का दौर शुरू हो गया है। घरों में पकवानों की महक है। वहीं गिरिजाघर दुल्हन जैसे सजे नजर आ रहे हैं। क्रिसमस ट्री लगभग तैयार हो चुका है। २५ दिसंबर को हर तरफ पर्व की धूम रहेगी। मानव जाति की सुरक्षा के लिए खुद को क्रूज पर चढ़ा देने वाले प्रभु यीशु को याद किया जाएगा।

रोशनी से नहाए चर्च
भंवरताल के सामने स्थित चर्च दुल्हन की तरह सजा हुआ है। यहां बड़ी आकर्षक सजावट की गई है। चर्च में गौशाला की झांकी से बनाई जा रही है। कल यहीं चरणी में प्रभु यीशु के जन्म को दर्शाया जाएगा।

श्रद्धालुओं का तांता
भवरताल चर्च में सुबह से ही श्रद्धालुओं की चहल-पहल रही। लोगों ने माता मरियम के सामने केंडल जलाकर सुख, शांति और खुशियों की कामना की। प्रार्थना का यह क्रम कल शाम तक अनवरत चलेगा।

ग्रिल बेल की धुन की गूंज
चर्च के अंदर हो या बाहर, बाजार हो या फिर किसी गली का चौराहा, चारों तरफ इन दिनों रिंंगल बेल की ही धुन सुनाई दे रही है। सभी बच्चे रिंगल बेल का ही गाना गाते नजर आ रहे हैं।

रात 12 बजे से मनेगा जश्न
आज रात १२ बजते ही देशभ र में जश्न मनाने का सिलसिला शुरू हो जाएगा। लोग उत्सव में डूब जाएंगे। २४ की रात से ही इसका क्रम शुरू हो गया है। स्थानीय मनीष चाल्र्स ने बताया कि आज पूरी रात जागरण के साथ प्रभु यीशु को याद किया जाएगा।

सेंटा से गिफ्ट्स का इंतजार
क्रिसमस को लेकर सभी की तैयारी पूरी हो चुकी है। बस अब इंतजार सेंटा से गिफ्ट लेने का है। इस दिन सभी एक दूसरे को बधाईयां देते हुए एक दुसरे को तोहफा देते है। जबलपुर के मार्केट्स में क्रिसमस को लेकर एक से बढ़कर एक गिफ्ट तैयार है । पूरा मार्केट सेंटा की ड्रेस से सजा हुआ है।

इसलिए मनाया जाता है क्रिसमस-
क्रिसमस प्रेम के संदेश का पर्व है। बताया जाता है कि करीब २००० साल पहले प्रभु यीशु मसीह का जन्म इसी दिन हुआ था। उन्होंने आपसी सौहाद्र्र, भाई चारा और एक-दूसरे से प्रेम का संदेश दिया। मानवता की रक्षा की खातिर ही उन्होंने प्राण तक उत्सर्ग कर दिए। उनका व्यक्तित्व और कृतित्व आज भी लोगों के लिए प्रेरणा बना हुआ है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned