लॉकडाउन में सीख ली खूबसूरती निखारना

जबलपुर शहर की ब्यूटीशियन ने कहा समय कठिन था, लेकिन नई चीजें सीखने को मिलीं

By: shyam bihari

Published: 06 Jun 2020, 08:06 PM IST

जबलपुर। कोरोना कहर से जूझ रहे जबलपुर शहर के ब्यूटी पार्लर्स करीब ढाई महीने बाद ओपन हुए हैं। इससे पार्लर व्यवसाय से जुड़े लोगों ने राहत की सांस ली है। वहीं लम्बे समय से ब्यूटी ट्रीटमेंट से दूर रही महिलाओं के बीच में भी खुशी देखी जा रही है। पार्लर खोलने के नियम और शर्तों के बीच शहर में खोले गए ब्यूटी पार्लर्स और सलोन में पहुंचने वाले लोगों को जीवन में पहली बार इस तरह के ब्यूटी ट्रीटमेंट को देखने और करवाने का मौका मिल रहा है। सलोन ओपन होने के बाद सिटी ब्यूटीशियन का कहना है कि लॉकडाउन का समय भले ही कठिन था, लेकिन उसके कारण ही जीरो टच फेशियल और न्यू ब्यूटी ट्रीटमेंट की टेक्निक सीख पाए हैं।
नया माहौल
ब्यूटीशियन आराधना चौहान का कहना है कि कोरोना संकटकाल के समय से ब्यूटी पार्लर्स और सलोन सेक्टर में काफी मंदी आ गई है। बड़े पार्लर्स तो ठीक, लेकिन वहां काम करने वाले कर्मचारियों और छोटे पार्लर्स वालों के लिए आर्थिक संकट खड़ा हो गया है। अब दोबारा पार्लर्स ओपन होने के बाद क्लाइंट्स और स्टाफ को एकदम नया माहौल मिल रहा है। क्लाइंट्स को सेनिटाइज होने के बाद ही पार्लर्स में एंट्री मिल रही है, ताकि संक्रमण जैसी स्थिति न पनपे।
पीपीटी किट्स का उपयोग
ब्यूटीशियन लता गुप्ता ने बताया कि शहर के पार्लर्स में स्टाफ और संचालकों द्वारा पीपीटी किट का इस्तेमाल किया जा रहा है। यह सब उनके लिए नया और अजीब जरूर है, लेकिन इसके बाद भी हेल्थ के लिए उन्हें यह सब करना पड़ रहा है। पार्लर्स खुले दो से तीन दिन हो चुके हैं। अभी सिर्फ अपॉइंटमेंट पर ही ब्यूटी ट्रीटमेंट किया जा रहा है। सिटी ब्यूटीशियंस का कहना है कि लॉकडाउन के दौरान ब्यूटीशियंस को नई-नई मेकअप और ब्यूटी ट्रीटमेंट की जानकारी दी गई थी, जिसका फायदा मिल रहा है। क्लाइंट्स को भी जीरो टच फेशियल और नेक द्वारा की जाने वाले थ्रेडिंग काफी पसंद आ रही है।

shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned