breaking news:लॉक डाउन तोडऩे पर कार्रवाई करने वाले टीआई को विधायक ने दी वर्दी उतरवा लेने की धमकी

-विधायक के रिश्तेदार महिलाओं के वाहन को अनुष्ठान कर लौटते समय झंडा चौक पर चैकिंग में रोके जाने पर बिफरे

By: santosh singh

Updated: 07 Apr 2020, 11:35 AM IST

जबलपुर। स्नेह नगर से जिलहरी घाट चार पहिया वाहन से अनुष्ठान करने गई महिलाओं को झंडा चौक में पुलिस द्वारा चैकिंग के दौरान रोके जाने पर हंगामा हो गया। बताते हैं कि पुलिस ने वाहन चालक को ग्रीन पर्ची थमा दी। इसके एक घंटे बाद थाने पनागर के भाजपा विधायक सुशील तिवारी उर्फ इंदू तिवारी दोनों बेटों व 10-15 समर्थकों के साथ पहुंचे। टीआई का आरोप है कि विधायक और उनके दोनों बेटों ने अभद्रता की और वर्दी उतरवा लेने की धमकी दी। इस दौरान मौके पर सीएसपी केंट व तहसीलदार गोरखपुर भी मौजूद थे। मामला अधिकारियों तक पहुंचा तो हडक़म्प मच गया। अधिकारियों ने मामले में सीएसपी से पूरे घटनाक्रम की रिपोर्ट मांगी है।
जिलहरी घाट गए थे अनुष्ठान करने
जानकारी के अनुसार विधायक के रिश्तेदार स्नेह नगर निवासी राहुल कुमार दीक्षित और दो महिलाएं एक बच्चे के साथ रविवार रात 7.30 बजे जिलहरीघाट से अनुष्ठान कर लौट रहे थे। झंडा चौक पर टीआई ग्वारीघाट राकेश तिवारी लॉक डाउन को लेकर चैकिंग कर रहे थे। वाहन पर कफ्र्यू पास चस्पा था।
कफ्र्यू पास के दुरुपयोग का आरोप-
टीआई के मुताबिक पास प्रमोद कुमार दीक्षित के नाम पर जारी हुआ है। वाहन में कोई और था। वाहन का पास भी जिलहरीघाट पर अनुष्ठान के लिए नहीं जारी हुआ था। इस पर चालक को ग्रीन पर्ची जारी कर छोड़ दिया गया।
टीआई के परिवार को घर उठवाने की धमकी-
टीआई का आरोप है कि इसके एक घंटे बाद विधायक सुशील तिवारी, आकाश सहित दोनों बेटे, समर्थक लवली आनंद और 10-15 समर्थकों के साथ पहुंचे और अभद्रता की। विधायक के बेटे ने मेरे परिवार को घर से उठवा लेने की धमकी दी गई। रोजनामचे में घटना का उल्लेख किया हूं।
विवाद की ये बात आई सामने-
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक टीआई ने कार्रवाई करने के साथ ही वाहन जब्त करने की बात कह दोनों महिलाओं को थाने ले गए। विधायक ने फोन किया तो कॉल रिसीव नहीं किया। इसके बाद विधायक समर्थकों के साथ पहुंचे थे। पूरा घटनाक्रम झंडा चौक पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद है।
विधायक सुशील तिवारी ने ये दी सफाई-
मेरे परिवार की बहू ग्वारीघाट गई थीं। उनके पास गोरखपुर तहसीलदार और मदनमहल थाने से जारी कफ्र्यू पास था। ग्वारीघाट टीआई इसे मानने को तैयार नहीं थे। उनका कहना था कि पास में दो लोगों की अनुमति है, लेकिन कार में तीन लोग सवार हैं। वरिष्ठ अधिकारियों की बात भी टीआई ने नहीं सुनी। इसके बाद थाने गया था। तब तक थाना प्रभारी वाहन छोड़ दिया था।
वर्जन-
पूरे विवाद की जानकारी मिली है। सीएसपी केंट से पूरे प्रकरण की रिपोर्ट मांगी गई है। रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई होगी।
डॉ. संजीव उईके, एएसपी

Show More
santosh singh Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned