वर्षों पुराने क्लब में टेबल पर छलक रहे थे जाम, बिना लाइसेंस परोसी जा रही थी शराब

जबलपुर क्लब में आबकारी विभाग का छापा, परिसर सील

 

By: shyam bihari

Published: 12 Jul 2021, 08:59 PM IST

जबलपुर। नौदराब्रिज स्थित जबलपुर क्लब में रविवार रात आबकारी विभाग ने छापा मारा। यहां बिना उचित लाइसेंस के सदस्यों को शराब परोसी जा रही थी। विभाग की टीम क्लब के भीतर पहुंची, तो वहां अफरातफरी मच गई। क्लब परिसर में कुछ लोग टेबल पर जाम छलकाते मिले, तो कुछ सदस्यों के लॉकर में अंगे्रजी शराब की भरी एवं खाली बोतलें बरामद हुई। विभाग ने मैनेजर के खिलाफ आपराधिक एवं आबकारी एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज कर परिसर सील कर दिया। आबकारी विभाग को लम्बे समय से जानकारी मिल रही थी कि क्लब में बिना अनुमति और लाइसेंस के शराब परोसा जा रही है। जबकि, क्लबों में शराब के लिए एफएल-4 लाइसेंस लिया जाना अनिवार्य होता है।

आबकारी कंट्रोल रूम प्रभारी जीएल मरावी के साथ विभाग की टीम ने अचानक क्लब में दबिश दी। मौके पर दो सदस्य एक टेबल पर बैठकर शराब पी रहे थे। टीम ने मौके पर मिले मैनेजर राकेश तिवारी से पूछताछ की। उनसे लाइसेंस दिखाने कहा। उन्होंने ऐसा कोई लाइसेंस नहीं होने की बात कही। इस पर विभाग की टीम ने सदस्यों के लॉकर की जांच की। आठ से 10 लॉकर खोले गए, लेकिन उनमें कुछ नहीं मिला। लेकिन, एक लॉकर में शराब की खाली बोतल बरामद हुई। इसके बाद क्लब में बने 100 से अधिक लॉकर्स खोलकर जांच की गई। उनमें शराब की कुछ भरी बोतलें मिलीं। सात बोतल में कोई आधी, तो कोई उससे कम भरी हुई मिली। इसे अपराध मानकर विभाग ने मामला दर्ज किया।
शहर के सबसे पुराने क्लबों में शामिल जबलपुर क्लब में बिना लाइसेंस के शराब परोसने पर धारा 36 ग के तहत आपराधिक प्रकरण दर्ज किया गया। एफएल-4 लाइसेंस के बिना शराब को परोसने पर आबकारी एक्ट के तहत मैनेजर के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। आपराधिक प्रकरण न्यायालय एवं लाइसेंस शर्तों के उल्लंघन पर कलेक्टर कोर्ट में प्रकरण भेजा जाएगा। कार्रवाई के दौरान आबकारी विभाग के राजेश चौधरी, रामजी पांडेय, जीडी लाहोरिया, इंद्रजीत तिवारी, प्रवीण रतन बरकड़े, श्वेता सिंह एवं रविशंकर सहित स्टाफ मौजूद था।

जबलपुर क्लब मेें बिना लाइसेंस के शराब परोसी जा रही थी। सदस्यों के लॉकर की जांच में शराब की भरी हुई तीन और सात बोतल में कम और ज्यादा मात्रा में शराब मिली। मैनेजर के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर परिसर सील कर दिया गया है।
जीएल मरावी, प्रभारी आबकारी कंट्रोल रूम

shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned