लोकसभा चुनाव 2019 : आखिर क्यों डैंजर जोन में नजर आने लगी यह सीट

जबलपुर में हथियारों की तस्करी बढ़ी, उधर प्रशासन कर रहा शांतिपूर्ण चुनाव की तैयारी

By: shyam bihari

Published: 04 Apr 2019, 09:45 PM IST

जबलपुर। लोकसभा चुनाव के लिए जबलपुर सीट वीआइपी तो मानी ही जा रही है। यह संवेदनशील श्रेणी में गिनी जाने लगी है। भाजपा के राकेेश सिंह के सामने कांग्रेस के विवेक तन्खा का नाम घोषित होने के बाद जबलपुर शहर का सियासी तापमान आखिरकार उछाल पर आ ही गया। नामांकन फॉर्म के वितरण और जमा होने की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है। इस बीच कुछ हथियार तस्करों की गिरफ्तारी होने से पुलिस महकमे के पसीने छूट रहे हैं। क्योंकि, जिला प्रशासन की टीम पुलिस अमले के साथ मिलकर शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए पसीना बहा रही है।
फूंकफूंककर कदम रख रहा प्रशासन
निर्वाचन कार्यालय की टीम कोई कोताही नहीं बरत रही है। कलेक्टर कार्यालय के मुख्यद्वार पर सीसीटीवी और मैनुअल कैमरे लगाए गए हैं। सीसीटीवी कैमरे की लिंक निर्वाचन आयोग से जुड़ी रहेगी। निर्वाचन कार्यालय में नामांकन फॉर्म लेने या जमा करने के लिए अभ्यर्थियों के साथ भीड़ नहीं लगाने के निर्देश दिए गए हैं। अभ्यर्थी के लिए 100 मीटर की दूरी तक तीन वाहनों को लाने की अनुमति है।
तस्करों ने बढ़ाई चिंता
बेलखेड़ा पुलिस ने क्राइम ब्रांच के साथ संयुक्त कार्रवाई में तीन बदमाशों को दबोचा, तो खतरनाक खुलासा हुआ। तीनों ने बताया कि वे दमोह से असलहे जिले में लाकर बेचते थे। इस बीच एसपी ने निमिष अग्रवाल ने भी माना कि लोकसभा चुनाव के चलते ग्रामीण क्षेत्रों में भी अवैध असलहों की तस्करी बढ़ गई है। चिंताजनक बात यह भी है कि यहां खरगोन से असलहे पहले दमोह जाते हैं। वहां से जबलपुर शहर पहुंचाए जाते हैं।
आमतौर पर शांत माहौल
साामन्य तौर पर जबलपुर लोकसभा सीट का माहौल शांत माना जाता है। लेकिन, शहर के कुछ हिस्सों और जिले के कुछ गांवों में बूथवार तनाव का माहौल चुनाव के दौरान बनता है। पुलिस को शहर के कुछ हिस्सों में चुनाव प्रचार के दौरान भी कड़ी मशक्कत करनी पड़ती है। ऐसे में हथियारों की तस्करी बढऩे से पुलिस की चिंता बढऩा स्वाभाविक है। जिला प्रशासन भी यही कोशिश कर रहा है कि माहौल बिगडऩे नहीं पाए। इसलिए अभी से ही चुस्त-दुरुस्त व्यवस्था बनाने की कोशिशें की जा रही हैं। इस मामले में स्थानीय शांति समितियों की भी मदद ली जा रही है। ताकि, सामाजिक ताना-बाना भी बना रहे। जागरुकता अभियान भी चलाए जा रहे हैं।

BJP
Show More
shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned