पटवारी को रिश्वत लेते लोकायुक्त ने पकड़ा, मच गया हंगामा

पटवारी को रिश्वत लेते लोकायुक्त ने पकड़ा, मच गया हंगामा

amaresh singh | Publish: May, 18 2018 01:47:38 PM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

लोकायुक्त ने गुरुवार देर शाम सिहोरा तहसील कार्यालय के चेम्बर में दबिश देकर पटवारी को दो हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया

सिहोरा। लोकायुक्त ने गुरुवार देर शाम सिहोरा तहसील कार्यालय के चेम्बर में दबिश देकर पटवारी को दो हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया। आरोपित पटवारी रिश्वत जमीन की नई (भू-ऋण पुस्तिका) बही बनवाने के बदले ले रहा था। मामले में लोकायुक्त ने पटवारी के असिस्टेंट को भी हिरासत में लिया है। दोनों के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है।


नई बही बनाने मांगी रिश्वत
डीएसपी लोकायुक्त दिलीप झरवड़े ने बताया कि शंकर नगर, करमेता निवासी राममनोहर सोनी के पिता गंगाराम सोनी की जमीन बुधारी गांव में है। पटवारी हल्का नंबर 83/33 में स्थित करीब चार एकड़ कृषि भूमि की नई बही बनवाने के लिए राममनोहर सोनी ने हल्का पटवारी बलीराम बर्मन को दी थी। नई बही बनाने के बदले पटवारी ने राममनोहर सोनी से तीन हजार रुपए की रिश्वत की मांग की। सौदा दो हजार रुपए में तय हो गया। इस बीच राममनोहर सोनी ने शिकायत लोकायुक्त जबलपुर में कर दी। लोकायुक्त टीम ने पूरी जांच करने के बाद पावडर लगाकर दो हजार रुपए पटवारी को देने के लिए राममनोहर को दे दिए। शाम छह बजे के करीब रामनोहर सिहोरा तहसील कार्यालय स्थित पटवारी बलीराम के चेम्बर पहुंचा। रामनोहर ने पांच-पांच सौ के चार नोट निकालकर जैसे ही पटवारी को दिए। उसी समय इंस्पेक्टर मनोज गुप्ता, गोविंद ङ्क्षसह, पंकज तिवारी, रविन्द्र सिंह पहुंच गए। प्लास्टिक के डिब्बे में भरे पानी में हाथ डालते ही पानी का रंग गुलाबी हो गया। लोकायुक्त टीम ने पटवारी के असिस्टेंट चंदन दाहिया को भी हिरासत में ले लिया है।


चना बेचने के बदले मांगे थे 8 हजार
भावांतर भुगतान योजना में चना की जल्द तौल कराने के बदले किसान से रुपए लेने वाले विणणन सहकारी समिति सिहोरा के खरीदी प्रभारी और कम्प्यूटर ऑपरेटर को लोकायुक्त की टीम ने गुरुवार को रिश्वत लेते गिरफ्तार किया। लोकायुक्त टीम ने यह कार्रवाई कृषि उपज मंडी सिहोरा में दोपहर करीब दो बजे की। आरोपितों के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है। लोकायुक्तउप पुलिस अधीक्षक जेपी वर्मा ने बताया कि ग्राम सिलुआ निवासी किसान आशीष कुमार राजपूत (35) ने भावांतर भुगतान योजना के तहत पंजीयन कराया था। कृषि उपज मंडी सिहोरा में विपणन सहकारी समिति चना की सरकारी खरीदी कर रही थी। किसान 42 क्विंटल चना लेकर विपणन सहकारी समिति में बेचने के लिए पहुंचा था। चना की तौल कराने के एवज में खरीद प्रभारी अवधेश चौबे ने किसान से 8 हजार रुपए और वहीं ऑपरेटर सनत कुमार तिवारी ने एंट्री करने के बदले एक हजार रुपए रिश्वत की मांग की। तौल नहीं होने से परेशान किसान ने सोमवार को लोकायुक्त में शिकायत की थी।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned