लोकसभा चुनाव 2019 : वोटरों को जागरूक करने के लिए किया जा सकेगा डमी बैलेट यूनिट का उपयोग

लोकसभा चुनाव 2019 : वोटरों को जागरूक करने के लिए किया जा सकेगा डमी बैलेट यूनिट का उपयोग

Abhishek Dixit | Publish: Apr, 20 2019 05:44:34 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

निर्वाचन आयोग ने किया स्पष्ट

 

जबलपुर. लोकसभा चुनाव में मतदाताओं को शिक्षित करने के लिए राजनीतिक दलों व उम्मीदवारों की ओर से इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन की डमी बैलेट यूनिट तैयार की जा सकेगी। निर्वाचन आयोग के अनुसार ऐसी डमी बैलेट यूनिट लकड़ी, प्लास्टिक या प्लाई बोर्ड बॉक्स की बनी हो सकती है। लेकिन, इसका आकार शासकीय बैलेट यूनिट के आकार का आधा होना चाहिए। इसे पीला, धूसर या भूरा रंग का होना चाहिए। निर्वाचन आयोग ने स्पष्ट किया है कि डमी बैलेट यूनिट में डमी मतपत्र की तरह अभ्यर्थी की क्रम संख्या, नाम व प्रतीक चिन्ह को दिखाने की व्यवस्था भी हो सकती है।

इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों को मतदान के लिए तैयार करने का कार्य (कमीशनिंग) एमएलबी स्कूल में शुरू हो गया है। जिला निर्वाचन अधिकारी व कलेक्टर छवि भारद्वाज ने एमएलबी स्कूल पहुंचकर कमीशनिंग का जायजा लिया। राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों व जबलपुर संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों ने भी ईवीएम की कमीशनिंग के कार्य का अवलोकन किया। इवीएम की कमीशनिंग का कार्य लगभग पांच दिन चलेगा।

इस दौरान इवीएम की कंट्रोल और बैलेट यूनिटों को मतदान के लिए तैयार किया जाएगा। कमीशनिंग का कार्य भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड के इंजीनियर्स की देखरेख में किया जा रहा है। कलेक्टर छवि भारद्वाज ने कमीशनिंग के अवलोकन के दौरान इस कार्य में लगे अधिकारियों-कर्मचारियों से चर्चा की, उन्हें सतर्कता बरतने के निर्देश दिए। बैटरी लगाकर इनसे मॉकपोल भी किया जा रहा है। मॉकपोल के बाद डाटा क्लीयर कर मशीनों को स्विच ऑफ किया जा रहा है।

जिले में प्रतिबंधात्मक आदेश लागू
लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए जिले में प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए गए हैं। इसमें 27 अप्रैल की शाम 6 बजे से 30 अप्रैल की सुबह 7 बजे तक जिले भर में किसी भी सार्वजनिक स्थान पर पांच से अधिक लोगों के एक साथ एकत्र होने और एक साथ आवाजाही करने को निषिद्ध कर दिया है। इसी के साथ 27 अप्रैल की शाम 6 बजे के बाद जिले की राजस्व सीमा में प्रवेश करने वाले बाहरी लोगों के ठहरने की सूचना संबंधित पुलिस थाने को देना होटल, धर्मशाला, सराय, लॉज, अतिथिगृह और भवन मालिकों के लिए अनिवार्य कर दिया गया है ।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned