Looteri Dulhan: पैसे लेकर शादी की, फिर ससुराल से गायब हो गई दुल्हन

  Looteri Dulhan: पैसे लेकर शादी की, फिर ससुराल से गायब हो गई दुल्हन
looteri dulhan

दो लुटेरी दुल्हनों समेत चार गिरफ्तार, जबलपुर की युवतियों ने राजस्थान में की थी फर्जी शादी, पुलिस पूछताछ में जुटी


जबलपुर। बारां राजस्थान के सदर थाना पुलिस ने सोमवार को शादी के लिए सौदेबाजी व बाद में धोखाधड़ी कर लाखों की चपत लगाने वाले गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए दो लुटेरी दुल्हनों समेत चार महिलाओं को गिरफ्तार किया है। दोपहर बाद उन्हें न्यायालय में पेश कर तीन दिन के रिमांड पर लिया है।

गिरफ्तार की गई एक युवती की शादी के लिए एक लाख दस हजार रुपए व दूसरी युवती की शादी के लिए एक लाख तीस हजार रुपए में सौदेबाजी की गई थी। पैसे युवती की मां व रिश्ते की बहन ने लिए थे। इसमें दोनों दुल्हन युवतियों की भी हिस्सेदारी थी।

looteri dulhan

दोनों दोस्त हुए शिकार

घटना से करीब दो माह पहले निकटवर्ती पाठेड़ा गांव निवासी एक युवक ने माधुरी उर्फ मधु उर्फ छाया तिवारी (19) निवासी जबलपुर (मप्र) के साथ शादी की थी। इसके लिए उसने किसी के माध्यम से एक लाख दस हजार रुपए में सौदा तय किया था और राशि का भुगतान किया था।

looteri dulhan

दोस्त को दी जानकारी

करीब एक माह बाद युवक ने अपने एक दोस्त को इसकी जानकारी दी तो वह भी शादी के लिए तैयार हो गया तथा उसने भी एक लाख तीस हजार में सौदा तय कर दुल्हन नेहा उर्फ निशा ठाकुर (19) से शादी कर ली। बाद में दोनों युवतियां पहने हुए जेवर लेकर फरार हो गई।

इनको किया गिरफ्तार

पहले एक की व बाद में दूसरे युवक की पत्नी फरार हुई। एक ने तो लोक-लाज के कारण पुलिस को घटना की जानकारी तक नहीं दी, लेकिन गत 10 सितम्बर को दूसरे युवक ने सदर थाने में मुकदमा दर्ज कराया। इसके बाद पुलिस ने पड़ताल शुरू की व जबलपुर पहुंचकर वहां से आरोपित दुल्हन नेहा ठाकुर व उसकी मां रिंकू उर्फ वर्षा उर्फ आंटी ठाकुर (40) एवं दुल्हन माधुरी व उसकी रिश्तेदार बहन सविता उर्फ मनीषा खींची (33) को गिरफ्तार किया गया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned