MAKAR SANKRANTI : रंगीला होगा आसमान, तिल-गुड़ की घुलेगी मिठास

abhishek dixit

Publish: Jan, 14 2018 06:00:00 AM (IST)

Jabalpur, Madhya Pradesh, India
MAKAR SANKRANTI : रंगीला होगा आसमान, तिल-गुड़ की घुलेगी मिठास

मकर संक्रांति पर्व आज, नववर्ष के पहले बड़े त्योहार का उदय उत्तरायण के रूप में होगा

जबलपुर. तिल और गुड़ की मिठास हर जुबां पर होगी। नववर्ष के पहले बड़े त्योहार का उदय उत्तरायण के रूप में होगा। घरों में जहां खिचड़ी की खुशबू महकेगी, वहीं ठंड के कम होने का इंतजार भी लोगों को होगा। पुरानी परम्पराओं के अनुसार भी मकर संक्रांति से ठंड तिल-तिल कम होने लगती है।
इसका वैज्ञानिक पहलू सूर्य का दक्षिण की सीमा का भ्रमण खत्म करके उत्तर की सीमा की ओर बढऩा होता है। आज मकर संक्रांति पर पतंगबाजी और गुड़ की मिठास के साथ मकर संक्रांति की धूम रहेगी।

अब तीखी होंगी सूर्य की किरणें
मकर संक्रांति से उत्तरायण का उदय भी हो जाता है, क्योंकि सूर्य 5 मकर राशि में प्रवेश करने के साथ सूर्य दक्षिण की सीमा को समाप्त करके उत्तर सीमा की ओर आगे बढ़ता है। एेसे पृथ्वी पर पडऩे वाली सूर्य की किरणें सीधी हो जाती है, जिसके कारण धूप तेज लगने लगती है। इसके कारण दिन भी अपेक्षाकृत आमदिनों से बड़े होने लगते हैं।

खूब लड़ेंगे पतंगों के पेंच
मकर संक्रांति पर खासतौर पर गुजराती कम्युनिटी द्वारा पतंगबाजी की जाती है। लेकिन अब हर कम्युनिटी के लोगों द्वारा पतंगबाजी की जाती है। बच्चों में इस दिन पतंग उड़ाने को लेकर खास उत्साह नजर आता है। एेसे में संक्रंाति के लिए पतंगों की भी मार्केट में अधिक सेलिंग होगी।

पक्षियों का ध्यान रखें
पतंगबाजी करते समय यह बेहद ध्यान रखने की जरूरत है कि ज्यादा ऊंचाई पर पतंग को न उड़ाया जाए, क्योंकि अधिक ऊंचाई पर पतंग उडऩे के कारण पक्षियों को नुकसान हो सकता है। इसके साथ खुली छतों पर पतंग उड़ाने की बजाय गार्डन या फिर खुले मैदान को चुने, ताकि आप भी किसी तरह की दुर्घटना का शिकार होने से बच सकें।

टोलियों ने गाया गीत, किया डांस
शनिवार को लोहड़ी सेलिब्रेशन शहर की पंजाबी कम्युनिटी के बीच खास और उत्साहपूर्वक मनाया गया। इस बीच ढोल भी बजा और रंग जमाते हुए हर कोई गीत और संगीत की दुनिया में खो गया। शहर के कई घरों में लोहड़ी के लिए पंजाबी टोलियों को बुलवाया गया, जिन्हें देखकर यह लगा मानों शहर में ही पंजाब का रंग उतर आया हो। उन्होंने सुंदर मंदुरिए..., लो आ गई लोहड़ी वे जैसे लोकगीतों के साथ शानदार पंजाबी लोकनृत्यों की प्रस्तुति भी दी। इसके साथ ही पंजाबी पोशाकों में सजे-धजे लोग टशन में दिखाई दिए। आग जलाकर सभी से तिल और लाई को समर्पित किया और सभी की खुशहाली मांगी। इस बीच पंजाबी व्यंजनों ने सेलिब्रेशन का मजा दोगुना किया।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

1
Ad Block is Banned