scriptmedical university jabalpur question papers are not being sent on time | मेडिकल यूनिवर्सिटी में चरमराई परीक्षा व्यवस्था, समय पर नहीं भेजे जा रहे प्रश्नपत्र | Patrika News

मेडिकल यूनिवर्सिटी में चरमराई परीक्षा व्यवस्था, समय पर नहीं भेजे जा रहे प्रश्नपत्र

मेडिकल यूनिवर्सिटी में चरमराई परीक्षा व्यवस्था, समय पर नहीं भेजे जा रहे प्रश्नपत्र

जबलपुर

Published: October 26, 2021 11:48:32 am

जबलपुर। फेल-पास का खेल सामने आने के बाद से लडखड़़ाई मध्यप्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय की परीक्षा व्यवस्था अब चमरमाने लगी है। एमबीबीएस परीक्षा में पर्चा बांटने में गड़बड़ी का मामला ठंडा भी नहीं पड़ा था कि एक और अव्यवस्था सामने आई है। नया मामला वर्तमान में संचालित विवि की समस्त परीक्षाओं से जुड़ा है। इसमें बड़ी लापरवाही उजागर हुई है। परीक्षा के लिए चिन्हित विवि से संबद्ध कॉलेजों (परीक्षा केंद्रों) को निर्धारित समय तक पश्नपत्र ही नहीं पहुंच रहा है। हर दिन आधे से डेढ़ घंटे के विलम्ब से परीक्षाएं शुरूहो पा रही हैं। ऐसी स्थिति तीन महीने से बनी हुई है। विवि की इस लापरवाही से प्रदेश भर में हर दिन एमयू के परीक्षार्थी परेशान हो रहे हैं।

medical University
medical University

तकनीकी खामी की आड़ में जिम्मेदारों की बड़ी लापरवाही

गश खाकर गिर रहे छात्र
विवि की ओर से वर्तमान में संचालित परीक्षाओं के लिए सुबह 11 से दोपहर दो बजे का समय निर्धारित किया गया है। इसी समय पर छात्र-छात्राएं प्रतिदिन निर्धारित केंद्रों पर पहुंच रहे हैं। लेकिन, प्रश्नपत्र विवि की ओर से लगातार देर से अपलोड किए जा रहे हैं। लेटलतीफी में छात्र-छात्राएं घबराहट और तनाव के शिकार हो रहे हैं। परीक्षा दोपहर तीन से शाम चार बजे तक खिंच रही है। सुबह से भूखे-प्यासे आए छात्र परीक्षा देने के दौरान कई बार गश खाकर गिर रहे हैं। नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज में परीक्षा केंद्र अध्यक्ष डॉ. विवेक श्रीवास्तव के अनुसार प्रश्नपत्र देर से प्राप्त हो रहे हैं। परीक्षार्थियों को निर्धारित तीन घंटे का समय प्रश्नपत्र हल करने के लिए दिया जा रहा है। देर से पेपर शुरूहोने के कारण परीक्षा भी देर तक चल रही है। प्रश्नपत्र भेजने में लगातार विलम्ब से छात्राओं को समस्या को लेकर कुलपति बी. चंद्रशेखर और परीक्षा नियंत्रक वृंदा सक्सेना से फोन पर सम्पर्क का प्रयास किया गया। लेकिन, दोनों अधिकारियों से सम्पर्क नहीं हो सका।

medical.jpg

तीन महीने से नहीं सुधरा इंटरनेट सिस्टम
विवि की ओर से प्रश्नपत्र परीक्षा के दिन परीक्षा शुरूहोने से कुछ देर पहले निर्धारित परीक्षा केंद्रों को ऑनलाइन भेजने की व्यवस्था है। परीक्षा केंद्र में प्रश्नपत्र की परीक्षार्थियों की निर्धारित संख्या के अनुसार छायाप्रति निकाली जाती है। उसे छात्रों को वितरित किया जाता है। विवि तीन महीने से इंटरनेट की समस्या के कारण प्रश्नपत्र भेजने में देर होने का हवाला दे रहा है।

लम्बे समय से समस्या मंशा पर उठे सवाल
विवि में कुछ महीने पहले तक प्रश्नपत्र ऑनलाइन भेजने का कामकाज एक निजी ठेका कंपनी करती थी। गड़बड़ी के आरोपों में फंसने के बाद से कंपनी को कामकाज से रोक दिया गया है। कंपनी के साथ मिलीभगत के आरोप विवि के अधिकारी पर भी है। इंटरनेट और सर्वर संबंधी समस्या का निराकरण नहीं होने और परीक्षा कार्यप्रभावित होने से प्रशासन की मंशा संदिग्ध है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

भारत ने निर्धारित अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर बैन 28 फरवरी तक बढ़ायाMaharashtra Nagar Panchayat Election Result: 106 नगरपंचायतों के चुनावों की वोटों की गिनती जारी, कई दिग्‍गजों की प्रतिष्‍ठा दांव परOBC Reservation: ओबीसी राजनीतिक आरक्षण पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, आ सकता है बड़ा फैसलाUP Election 2022: यूपी चुनाव से पहले मुलायम कुनबे में सेंध, अपर्णा यादव ने ज्वाइन की बीजेपीकेशव मौर्य की चुनौती स्वीकार, अखिलेश पहली बार लड़ेंगे विधानसभा चुनाव, आजमगढ के गोपालपुर से ठोकेंगे ताल10 कंट्रोवर्शियल विधानसभा सीटें जहां से दिग्गज ठोकेंगे चुनावी ताल, समझें राजनीतिक समीकरणचीन की धमकी से डरा पाकिस्तान, चीनी इंजीनियरों को देना पड़ेगा अरबों का मुआवजाCameron Boyce ने BBL में रचा इतिहास, 4 गेंद में 4 बल्लेबाजों को किया आउट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.