अजब है... अचानक जी उठा मरा हुआ आदमी, हर तरफ खलबली

अजब है... अचानक जी उठा मरा हुआ आदमी, हर तरफ खलबली
अचानक जीवित हो उठा मरा हुआ व्यक्ति

Prem Shankar Tiwari | Publish: Dec, 09 2018 01:19:56 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

अचानक जीवित हो उठा मरा हुआ व्यक्ति

जबलपुर। कहते हैं कि दुनिया से जो भी प्राणी एक बार विदा हो जाए तो उसका वापस लौटना मुश्किल है। सांसों की डोर थम जाने के बाद मिट्टी की तरह उसकी देह बस दुनिया में रह जाती है, लेकिन जबलपुर के एक निजी अस्पताल में कुछ अजीब हुआ। यहां चिक्सिकों ने एक व्यक्ति को मृत घोषित कर दिया। उसका डेथ सर्टिफिकेट बना दिया। रोते-बिलखते परिजनों ने उसे वापस गांव ले जाने की तैयारी कर ली। यहां तक कि गांव में उसकी अर्थी भी तैयार होने लगी, लेकिन यह क्या...? मृत व्यक्ति को जैसे ही परिजनों ने वापस गांव ले जाने के लिए एम्बुलेंस में रखा और कुछ दूर चले ही थे कि अचानक मृत व्यक्ति के शरीर में हलचल होने लगी। एम्बुलेंस में बैठे लोगों ने चकित भाव से उसकी नब्ज देखी तो पता चला कि उसकी सांसें अभी चल रही हैं। परिजन उसे तुरंत वापस लेकर मेडिकल अस्पताल पहुंच, जहां व्यक्ति का इलाज जारी है। कथित तौर पर मृत होने के बाद जिंदा हुए इस व्यक्ति का नाम दयाराम सोनी बताया गया है।

कहा अब दुनिया में नहीं है
प्रत्यक्षदर्शी ग्रामीणों के अनुसार मझौली ग्राम देवरी (अमगवां) निवासी दयाराम सोनी (47) को सीने में दर्द होने पर होम साइंस कॉलेज रोड पर स्थित एक निजी अस्पताल में शुक्रवार को भर्ती कराया गया था। जहां दयाराम को हार्टअटैक आने की बात कही गई। चिकित्सकों ने शनिवार को जांच के बाद वेंटीलेटर हटाते हुए परिजनों को जानकारी दी कि दयाराम अब दुनिया में नहीं है। इसे वापस गांव ले जा सकते हैं।

अचानक चलने लगी सांसें
चिकित्सकों की सलाह पर परिजन दयाराम के शव को लेकर गांव जा रहे थे। इस बीच रास्ते में उसकी सांसें चलने लगीं। परिजन तत्काल दयारामको लेकर मेडिकल कॉलेज ले गए। चिकित्सकों ने जांच के बाद मरीज की स्थिति गंभीर बताते हुए भर्ती कर लिया। मरीज के परिचित पीके तिवारी के अनुसार मरीज में एक घंटे के इंतजार के बाद भी आइसीयू में उचित उपचार नहीं मिला। इस पर मरीज को अधारताल स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां, उसकी हालत स्थित बनी हुई है। डॉक्टरों का कहना है कि इस तरह की घटनाएं कभी-कभार हो जाती हैं। खासकर हृदयाघात के केसेज में सांसें लौट भी आती हैं, हालांकि ऐसा रेयर ही होता है। उल्लेखनीय है कि इस तरह की घटनाएं पहले भी सामने आ चुकी हैं।

डॉक्टर ने कहा घर ले जाओ
मरीज के साथ आए अमगवां देवरी निवासी पीके तिवारी का आरोप है कि होम साइंस कॉलेज रोड स्थित अस्पताल ने मरीज की लगभग मौते होने की बात कही गई थी। डॉक्टरों ने साफ कहा था कि दयाराम की मौत हो चुकी है। उनके शव को घर ले जा सकते हैं। डॉक्टरों के कहने पर ही शव को घर ले जा रहे थे। दूसरी अस्पताल में अब उपचार मिलने पर ही हालत में सुधार हुआ है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned