इस क्रूर महिला ने छोड़ा गंदा काम, अब दे रही गजब का संदेश

 इस क्रूर महिला ने छोड़ा गंदा काम, अब दे रही गजब का संदेश
Message of Swachh Bharat Abhiyaan giving holika

Prem Shankar Tiwari | Publish: Mar, 12 2017 06:20:00 PM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

चांड चौक में स्वव्छता की अलख जगा रही होलिका

जबलपुर/कटनी। होली का त्यौहार रविवार रात होलिका दहन से शुरु हो जाएगा। तीन दिनों तक तक चलने वाले इस महोत्सव के बारे में आप सभी यह कहानी अवश्य जानते होंगे कि एक समय राक्षस हिरण्यकश्यप का आतंक बढ़ गया था। राक्षस के यहां भगवान विष्णु के परमभक्त के रूप में प्रहलाद का जन्म हुआ। प्रहलाद का विष्णु भक्त होना राक्षस को और भी पीड़ा देने लगा और वह उसे सताने लगा। एक दिन राक्षस ने अपनी बहन होलिका की गोद में प्रहलाद को बैठाकर आग के हवाले कर दिया। इसमें प्रहलाद तो बच गया, लेकिन होलिका जल गई थी। होलिका को आग में न जलने का वरदान था और वह हमेशा से क्रूर थी। लेकिन उसने कलियुग में क्रूरता को छोड़ दिया है। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि होलिका का संदेश ऐसा है जिसे जानकर आप भी दंग रह जाएंगे।


?Message of Swachh Bharat Abhiyaan giving Holika

होलिका दे रही यह संदेश
कटनी चांडक चौक में जलने वाली होली हर आम और खास को अपनी ओर आकर्षित कर रही है। श्री गांधी होलिका पूजा समिति द्वारा तैयार की गई होलिका बड़ी ही खास है। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा चलाए जा रहे स्वच्छ भारत अभियान की अलख जगा रही है। कटनी में यह अभियान की ब्रांड एम्बेसडर बनी हुई है। यहां पर बैठी होलिका स्वच्छ भारत का संदेश दे रही है। होलिका लोगों से खुले में शौच न करने, शौच के लिए प्रसाधन का उपयोग करने, यहां-वहां गंदगी न फैलाने सहित आपसी मन-मुटाव को छोड़कर भाईचारे के साथ रहने का संदेश दे रही है।

होलिका कर रही सफाई
समिति ने होली के अवसर पर एक ऐसी झांकी प्रस्तुत की है जो हर राहगीर को रुककर देखने विवश कर देती है। यहां पर होलिका जिसका नाम बुआ दिया गया है वह पहले कचरा फैलाती है, लेकिन स्थानीय लोग उसको मना करते हुए उससे सफाई करवाते हैं और कहते हैं बुआ सफाई कराते-कराते तेरा दम निकाल देंगे। इसके बाद होलिका सफाई करती है।

प्रहलाद ने भी दिया यह संदेश
राक्षसराज हिरण्यकश्यप जिसके पुत्र प्रहलाद जो भगवान विष्णु के परम भक्तों में से एक हैं। यह पौराणिक पात्र भी कटनी में स्वच्छता का संदेश दे रहा है। प्रहलाद यह बता रहा है कि गंदगी ही सारी बीमारियों का जड़ है। इसलिए आप सभी अंदर और बाहर दोनों को साफ रखें। झांकी में प्रहलाद स्वयं झाडू लगा रहा है।


खुले में शौच का विरोध
होली भले ही एक उत्सव का त्यौहार है, लेकिन समिति इस त्यौहार के माध्यम से ऐसा संदेश दे रही है जो अनूठा है। समिति बकायदा पोस्टर और झाकियों के माध्यम से गंदगी के दुष्परिणामों से लोगों को अवगत करा रही है। यहां पर खुले में शौच करने वाले लोगों का विरोध किया जा रहा है। जो लोग खुले में शौच करने के लिए जा रहे हैं उन्हें खदेड़ा जा रहा है और प्रसाधन में शौच करने सलाह दी जा रही है।

इसकी जलेगी होली
रविवार की शाम भले ही होलिका जलेगी लेकिन समिति के लोग एक ऐसी परंपरा को जलाने जा रहे हैं जो सभी बीमारियों की जड़ है। होलिका के साथ खुले शौच की प्रथा का भी दहन करेंगे। समिति पदाधिकारियों का कहना है कि उनकी बस यही अपील है कि लोग स्वच्छता को अपनाएं और बीमारियों से बचें।  इससे शहर साफ-सुथरा रहेगा, बीमारियां कम होंगी तो लोगों की तरक्की होगी। लोग मलेरिया, पीलिया, डायरिया, हैजा आदि गंभीर बामरियों से भी बचेंगे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned